किसान आंदोलन को हवा देकर विदेशी ताकतें तोड़ना चाहती हैं देश को 

0 83

तीनों विदेशी महिलाओं के ट्वीट पर ली चुटकी
कानपुर :  सुधार कानून को लेकर सरकार का विरोध और किसान आंदोलन वर्तमान में अंतरराष्ट्रीय मुद्दा बन चुका है। राजनीतिक लोगों की प्रतिक्रया के अलावा इसके समर्थन में अब कुछ विदेशी सेलेब्स के ट्वीट दुनिया में चर्चा का विषय बने हैं। जहां एक ओर सरकार विदेशी सेलेब्स के ट्वीट को भारत की संप्रभुता और अखंडता में हस्तक्षेप बता रही है,तो वहीं,प्रतिपक्ष उनके दखल को सराहनीय बता रहा है। ऐसे में अब तक कई बॉलीवुड और खेल जगत की हस्तियों की प्रतिक्रिया सुनने को मिली। शुक्रवार को उत्तर प्रदेश फिल्म विकास परिषद के चेयरमैन राजू श्रीवास्तव ने मानवाधिकार का मुद्दा उठाने वाली और टिप्पणी करने वाली तीनों विदेशी महिलाओं के ट्वीट पर चुटकी ली।
सरकार किसानों का करती है सम्मान  
उन्होंने इस मौके पर कृषि सुधार कानून पर अपना पक्ष रखा। उन्होंने कहा कि सरकार किसानों का सम्मान करती है। किसानों की बात सुनी जा रही है। कृषि मंत्री,रेल मंत्री और खुद प्रधानमंत्री भी इस मुद्दे को गंभीरता से ले रहे हैं। प्रधानमंत्री ने कहा है कि वह सिर्फ एक फोन कॉल की दूरी पर हैं। किसान चाहे तो अपनी बात उन्हें बता सकते हैं।
उत्तर प्रदेश फिल्म विकास परिषद के गठन पर शिवसेना की टिप्पणी को लेकर वह बोले यह तो निर्माता के ऊपर है कि वह अपनी फिल्में कहां बनाना चाहता है। हम उनकी फिल्म सिटी को उठाकर उत्तर प्रदेश में लाने नहीं जा रहे हैं। शिवसेना अपने मराठी वोट बैंक को लेकर इस तरीके की बातें कर रही है। वेब सीरीज में दर्शकों को अश्लीलता परोसने के सवाल पर राजू श्रीवास्तव ने कहा यह गंभीर विषय है। क्योंकि अभी वेब सीरीज पर सेंसर के लिए कोई नियम नहीं है लेकिन फिर भी वह मुख्यमंत्री से इस विषय पर बात करेंगे ताकि वेब सीरीज को भी सेंसर के दायरे में लाया जा सके।
तीनों सेलेब्स को बताया थ्री इडियट्स
किसान आंदोलन को मानवाधिकार का मुद्दा बताकर उसका समर्थन करने वाली तीनों विदेशी महिलाओं के ट्वीट पर उन्होंने चुटकी ली। चुटीले अंदाज में उन्होंने तीनों सेलेब्स को थ्री इडियट्स बताया। कहा कि विदेशी ताकतें हमें तोड़ना चाहती हैं लेकिन वह ऐसा नहीं कर पाएंगे।क्योंकि सरकार लगातार किसान हित में काम कर रही है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.