उत्तर प्रदेश के उन्नाव में 2021 में 389 लोगों ने सुसाइड किया

0 55

यूपी : उन्नाव में 2021 में 389 लोगों ने सुसाइड कर लिया 10 लोगों की हत्या की गई। वहीं 238 लोगों ने सड़क दुर्घटना में अपनी जान गंवा दी जिन लोगों ने सुसाइड किया है उसमें घरेलू कलह से परेशान लोगों की संख्या ज्यादा है वहीं कुछ लोग कोरोना के कारण आए आर्थिक संकट को झेल नहीं पाए, और सुसाइड कर लिया। इसमें कुछ लोग वो भी हैं, जिन्होंने बीमारी से परेशान होकर अपनी जान दे दी। खुदकुशी करने वालों की संख्या इतनी अधिक हो गई कि साल में दुर्घटनाओं में मरने वालों की संख्या कम पड़ गई।

2020 का रिकार्ड भी टूटा

उन्नाव में पिछले सालों की अपेक्षा 2021 में हर दिन किसी न किसी ने अनेक कारणों के चलते फांसी या जहर खाकर असमय जान दे दी। खुदखुशी की घटनाओं ने इस बार 2020 का रिकार्ड तोड़ा दिया। पोस्टमार्टम हाउस के आंकड़ों के मुताबिक 27 दिसंबर तक फांसी और जहर खाने से 389 लोगों की जान चली गई।

पुलिस ने करवाया 1500 शवों का पोस्टमार्टम

अस्पताल के आंकड़ों की माने तो पिछले तीन सालों में प्राकृतिक और दुर्घटना मौत, फांसी, जहर खाने और संचारी रोगों की वजह से लोगों की असमय मौत का ग्राफ लगातार बढ़ता ही जा रहा है। पोस्टमार्टम हाउस के आंकड़ों के अनुसार पुलिस ने 1500 शवों का पोस्टमार्टम करवाया है। जबकि 2020 में 1388 और 2019 में 1372 शवों का पोस्टमार्टम पुलिस ने करवाया था

खुदकुशी की घटनाओं ने तोड़ा रिकार्ड

जिले में 2021 में फांसी और जहर खाकर खुदकुशी की घटनाओं ने पिछले दो सालों का रिकार्ड तोड़ दिया। अब तक जिले से 393 फांसी और जहर खाकर खुदकुशी के मामले सामने आए हैं। 2020 में फांसी और जहर से करीब 310 और 2019 में 298 लोगों की मौत हुई थी। 2020 में लॉकडाउन के दौरान जून और जुलाई माह में 42 लोगों ने खुदखुशी की है। साथ ही पानी में डूबने से 55 मौतें पूरे साल में हुई है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.