प्रदूषण फैलाने वाली फैक्ट्री पर 8.56 लाख जुर्माना दम घोटू धुंआ से लोगों में बना है जान का खतरा

0 46

उन्नाव : मानक के विपरीत प्रदूषण फैला रही औद्योगिक इकाइयों के खिलाफ जिला प्रशासन सख्त कदम उठा रहा है। सरकार ने प्रदूषण को नियंत्रित करने के लिये प्रदूषण कंट्रोल बोर्ड को अहम जिम्मेदारी सौंपी है, मानक के विपरीत प्रदूषण फैलाने वालो पर सख्त कार्यवाही की जा रही है। गौरतलब हो कि इन दिनों थाना दही क्षेत्र अंतर्गत औद्योगिक इकाइयां मानक के विपरीत बेखौफ होकर प्रदूषण फैला रही है। जिससे लोगो का सांस लेना तक दूभर हो चुका है प्रदूषण से लोगों के जीवन में ग्रहण लगता जा रहा है, जनसमस्या की जानकारी पर समाचार पत्र की टीम ने दही थाना क्षेत्र में औद्योगिक इकाइयों की सच्चाई को खंगालने का प्रयास किया तो चौकाने वाले दृश्य सामने आए।

जिसमे लोहा गलाने वाली फैक्ट्री मेमर्स जय जगदम्बा मेटलाइज लिमिटेड में मानक के विपरीत प्रदूषण फैलाया जा रहा था, जिसके बाद इस खबर को समाचार पत्र ने प्रमुखता से प्रकाशित किया। जिसके बाद कुम्भकर्णी नींद में सो रहा प्रदूषण विभाग हरकत में आ गया और फैक्ट्री के खिलाफ लाखों का जुर्माना लगा दिया। कार्यवाही से औद्योगिक क्षेत्र में निवास कर रहे लोगों ने समाचार पत्र टीम की भूरी भूरी प्रशंसा की और हृदय से धन्यवाद ज्ञापित किया है। बताते चले नगर में निवास कर रहे लोगों में प्रदूषण की वजह से तमाम गंभीर बीमारियां फैल रही है, बच्चे, बूढ़े जवान सभी लोग प्रदूषण का शिकार हो रहे हैं और गंभीर बीमारियों की चपेट में आ रहे हैं।

प्रदूषण से सांस लेना हुआ दूभर

जिला प्रशासन लगातार पर्यावरण संरक्षण को लेकर तमाम कार्यक्रम संचालित कर रहे हैं, कार्यक्रमो में अधिकारियों द्वारा वृक्षारोपण भी किया जा रहा है जिसका एकमात्र उद्देश्य है के लोगों में जागरूकता फैलाई जा सके और आने वाली पीढ़ी का भविष्य सुरक्षित हो सके परन्तु मनमानी करने वाली औद्योगिक इकाइयां बेखौफ मानक के विपरीत दम घोटू धुआं फैला रही है और जिम्मेदार मूकदर्शक बने बैठे हैं।

संवाददाता से बातचीत में प्रदूषण अधिकारी राधेश्याम ने बताया कि मानक के विपरीत प्रदूषण फैला रही फैक्ट्री मेमर्स जय जगदम्बा मेटलाइज के खिलाफ 8 लाख 56 हजार 250 रुपये जुर्माने की राशि तय की गई है। और फैक्ट्री बंदी का आदेश जारी करने हेतु उत्तर प्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड को पत्र लिखा है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.