अलीगंज के फतेहपुर गांव में डायरिया से कोहराम 80 लोग बीमार

0 19

लखनऊ : अलीगंज के फतेहपुर गांव में उल्टी दस्त से कोहराम मच गया है। बुधवार को 80 लोग उल्टी दस्त की चपेट में आ गए। इनमें 30 से अधिक बच्चे शामिल हैं। बीमारी पर काबू पाने के लिए स्वास्थ्य विभाग ने अस्थाई शिविर बना दिया है।

24 घंटे एम्बुलेंस खड़ी करा दी है। शिविर में आने वालों को मुफ्त दवाएं दी गईं। 60 के करीब मरीजों ने शिविर में दवाएं लीं वहीं 20 मरीज निजी अस्पताल गए। सीएमओ डॉ. मनोज अग्रवाल ने डायरिया प्रभावित इलाके का जायजा लिया। मरीजों की सेहत का हाल लिया।

हर घर में कोई न कोई बीमार :

फतेहपुर गांव में बीते शनिवार से डायरिया का प्रकोप है। अब तक दो लोगों की मौत हो चुकी है। मंगलवार को 40 लोग डायरिया की चपेट में मिले थे। 15 से ज्यादा लोग महानगर के निजी अस्पताल में इलाज करा रहे हैं।

बुधवार को 80 नए लोग डायरिया की चपेट में आ गए। इससे इलाके में दहशत है। हर घर में कोई न कोई डायरिया की चपेट में है। 15 घर ऐसे हैं जिनके परिवार के ज्यादातर सदस्य डायरिया की चपेट में आ गए हैं। स्वास्थ्य विभाग के शिविर में इन्हें दवाएं मुहैया कराई गई।

सीएमओ डॉ. मनोज अग्रवाल ने डायरिया प्रभावित इलाके का दौरा किया। घर-घर जाकर मरीजों का हाल जाना। मरीजों को उबालकर पानी पीने की सलाह दी। क्लोरीन की गोलियां बंटवाईं। साथ ही ओआरएस घोल के पैकेट भी बांटे। पानी की जांच कराई जा रही है।

नगर आयुक्त ने गृहकर की जांच का दिया आदेश

निरीक्षण के दौरान फतेहपुर गांव में कुछ भवनों में 50-60 बच्चे निवास करते हुये पाये गये। जो विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे हैं। यह मकान हास्टल के रूप में चल रहे थे।

नगर आयुक्त ने जोनल अधिकारी अम्बी बिष्ट से कहा कि सम्पूर्ण क्षेत्र के आवासीय भवनों का कार्मिशियल प्रयोग, पीजी हास्टल अथवा दुकानों इत्यादि के रूप में उपयोग किया जा रहा है। इन सभी को सूचीबद्ध कर व उनके गृहकर निर्धारण के सम्बन्ध में विस्तृत रिर्पोट तैयार करने का निर्देश दिया।

Leave A Reply

Your email address will not be published.