विधान परिषद निर्वाचन को प्रशासन सजग, डीएम ने लिया जायजा

0 13

झांसी : उप्र विधान परिषद चुनाव को रिटर्निंग ऑफिसर व जिलाधिकारी रविंद्र कुमार की अध्यक्षता में विकास भवन सभागार में आयोजित बैठक में विधान परिषद द्विवार्षिक निर्वाचन 2022 झांसी, जालौन, ललितपुर के सकुशल,शांतिपूर्ण, पारदर्शी ढंग से संपन्न कराए जाने के लिए पीठासीन अधिकारी व मतदान अधिकारियों का प्रथम प्रशिक्षण आयोजित हुआ ।

इस अवसर पर जिलाधिकारी ने समस्त पीठासीन, मतदान अधिकारियों को निर्देश दिए कि मतदान शांतिपूर्ण, स्वच्छता और पारदर्शी ढंग से संपन्न कराया जाना है अतः प्रशिक्षण के दौरान जो भी जानकारी आपको दी जाए उसे संवेदनशील होकर आत्मसात करें। उन्होंने कहा कि यदि किसी बिंदु पर कोई शंका है तो मास्टर ट्रेनर द्वारा उस शंका को अवश्य दूर करें ताकि मतदान के दौरान कोई समस्या ना हो।

उन्होंने बताया कि जनपद झांसी में 16 बूथ, जनपद जालौन 12 बूथ एवं जनपद ललितपुर में 8 बूथ बनाए गए है। जनपद झांसी के 16 बूथ में 08 बूथ ब्लॉक में, 01 बूथ जिला पंचायत कार्यालय में एवं 07 बूथ नगर निकाय में बनाए गए है। जनपद झांसी में 1395 वोटर, जनपद जालौन 1413 वोटर एवं जनपद ललितपुर में 1020 वोटर है। इस प्रकार निर्वाचन क्षेत्र में कुल 37 बूथ एवं 3828 वोटर है।

जिलाधिकारी ने बताया कि जनपद झांसी में पोलिंग पार्टी बुन्देलखण्ड महाविद्यालय से पुलिस सुरक्षा के साथ मतदान केन्द्र के लिए रवाना होंगी एवं मतदान समाप्त होने के उपरांत बुन्देलखण्ड महाविद्यालय आएंगी। जनपद जालौन एवं ललितपुर में भी पोलिंग पार्टियां जनपद मुख्यालय से मतदान केंद्रों के लिए रवाना होगी एवं मतदान समाप्त होने के बाद पहले अपने जनपद मुख्यालय में एकत्रित होंगी,

इसके उपरांत पुलिस सुरक्षा में बुन्देलखण्ड महाविद्यालय आएंगी। बुन्देलखण्ड महाविद्यालय में स्ट्रॉग रूम तैयार कर लिया गया है। उन्होंने बताया कि बैलेट पेपर/मतपेटीका की सुरक्षा हेतु मतगणना तक चौबीसों घंटे पुलिस तैनात रहेगी।

उन्होंने बताया कि आयोग के निर्देशानुसार मतदाताओं को वोटिंग प्रोसीजर एवं उनके मतदान केंद्र के बारे में सूचित किया जाना है, जिसकी जिम्मेदारी जनपद में नगर निकाय एवं विकास खण्ड के अधिकारियों को दी गई है।

उन्होंने प्रशिक्षण के दौरान बताया कि मतदान केंद्र पर मतदान में लगे कार्मिक, मतदाता,मतदान अभिकर्ता, निर्वाचन अभिकर्ता, उम्मीदवार के अतिरिक्त किसी भी व्यक्ति को प्रवेश करने नहीं दिया जाए। पीठासीन अधिकारी व मतदान अधिकारी कि दृष्टिहीन व निरक्षर मतदाताओं को हेल्पर उपलब्ध कराया जाना है, मतदान केंद्र पर केवल उन्हीं व्यक्तियों के हेल्पर को प्रवेश करने दिया जाए

जिन की अनुमति निर्गत की गई है बिना अनुमति के हेल्पर को प्रवेश नहीं करने दिया जाए।इस मौके पर प्रभारी कार्मिक मुख्य विकास अधिकारी शैलेष कुमार, उप जिला निर्वाचन अधिकारी व अपर जिलाधिकारी प्रशासन अरुण कुमार सिंह, सहायक कार्मिक डीडीओ सुनील कुमार, बीएसए वेद राम सहित अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.