Agra Breaking News

0 151

आज रात आठ बजे से 35 घंटे का लॉकडाउन  नियम तोड़ने पर होगी कड़ी कार्रवाई

आगरा : मंडल में आगरा मथुरा, फिरोजाबाद और मैनपुरी में शनिवार रात आठ बजे सोमवार सुबह छह बजे तक 35 घंटे का कोरोना कर्फ्यू लागू रहेगा। इसके प्रभावी अनुपालन के निर्देश मंडलायुक्त अमित गुप्ता ने चारों जिलों के डीएम एसएसपी और सीएमओ को दिए हैं। साथ ही चारों जिलों से कोविड कंट्रोल प्लान, उपचार के इंतजाम पर रिपोर्ट मांगी है।  मंडलायुक्त ने कहा कि कोरोना कर्फ्यू में सभी आवश्यक सेवाएं चलती रहेंगी। जनता भी अपनीजिम्मेदारी समझे। जीवन सुरक्षा के मामलों में लापरवाही न करें। बाहर आवाजाही से बचें। सभी लोग मास्क लगाएं। उन्होंने चारों जिलों के एसएसपी से बिना मास्क जुर्माना और सख्त कार्रवाई करने निर्देश भी दिए हैं। बता दें कि कोरोना संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए प्रदेश सरकार ने साप्ताहिक लॉकडाउन का फैसला किया है। इस दौरान सिर्फ स्वच्छता और सैनिटाइजेशन का काम होगा। आवश्यक सेवाएं, चिकित्सा सेवाएं सुचारू रहेंगी, जबकि आगरा मंडल के सभी बाजार, हाट, व्यावसायिक प्रतिष्ठान, कार्यालय आदि बंद रहेंगे।

आगरा मंडल में कोरोना वायरस का संक्रमण तेजी से फैल रहा है। शुक्रवार को आगरा और मथुरा जिले में कोरोना संक्रमण से छह लोगों की जान चली गई। वहीं मंडल के चार जिलों में 24 घंटे में 787 नए कोरोना मरीज मिले हैं।  आगरा में डॉ. भीमराव आंबेडकर विश्वविद्यालय के परीक्षा नियंत्रक डॉ. राजीव कुमार समेत 346 नए मरीज मिले। वहीं, दूसरे नंबर पर मथुरा रहा जहां 214 संक्रमित मिले। मैनपुरी में 150 और फिरोजाबाद जिले में 77 संक्रमित मिले।

आगरा में सात नए कोविड हॉस्पिटल बनाए जाएंगे

आगरा : में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए कोविड अस्पतालों की संख्या बढ़ाई जा रही है। सात और हॉस्पिटल बनाए जाएंगे। इस समय एसएन मेडिकल कॉलेज के कोविड हॉस्पिटल और निजी कोविड हॉस्पिटल में आईसीयू फुल हैं। सक्रिय मरीजों की संख्या 1568 पर पहुंच गई है। गंभीर मरीजों को भर्ती करने के लिए बेडउपलब्ध नहीं हैं। मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. आरसी पांडेय ने बताया कि श्री पारस हॉस्पिटल भगवान टाकीज चौराहा, ब्लोसम हॉस्पिटल खंदारी, जसवंत हॉस्पिटल न्यू आगरा, पल्स हॉस्पिटल लोहामंडी, जेडी हॉस्पिटल ट्रांस यमुना कॉलोनी, नयति हॉस्पिटल हाईवे सिकंदरा और मूलचंद हॉस्पिटल हाईवे में कोविड हॉस्पिटल बनाया जाएगा।

इनमें जरूरी इंतजाम किए जा रहे हैं। इससे एसएन मेडिकल कॉलेज, जिला अस्पताल के साथ 10 निजी कोविड हॉस्पिटल तैयार हो जाएंगे। कोविड हॉस्पिटल में दो दिन में बेड की संख्या 438 से बढ़ाकर 1064 कर दी जाएगी। कोरोना संक्रमण के गंभीर मरीजों की संख्या बढ़ने के साथ ऑक्सीजन की मांग भी बढ़ती जा रही है। हर रोज 25 से 26 टन ऑक्सीजन की खपत हो रही है। ऑक्सीजन सिलिंडर की कमी होने लगी है। वहीं, संक्रमित गंभीर मरीजों के इलाज के लिए रेमडेसिविर इंजेक्शन नहीं मिल रहा है। लखनऊ से आगरा के लिए इंजेक्शन की आपूर्ति अभी नहीं हो पाई है। यहां अब मात्र 30 इंजेक्शन बचे हैं।

आगरा में  24 घंटे में दो मरीजों की मौत पहली बार 346 नए संक्रमित मिले

आगरा  : में कोरोना वायरस के संक्रमण से हालात भयावह हो गए हैं। शुक्रवार को पहली बार रिकॉर्ड 346 नए मरीज मिले हैं। इससे सक्रिय मरीजों का आंकड़ा 1500 के पार पहुंच गया है। वहीं दो संक्रमित मरीजों की मौत भी हो गई है। इससे कुल मृतकों की संख्या 185 हो गई है। ताजनगरी में पहली बार इतनी बड़ी संख्या में नए मरीज मिले। जिले में अब तक 12682 लोग संक्रमित मिल चुके हैं। इनमें 10929 मरीज ठीक हो चुके हैं। नए मरीजों की संख्या बढ़ने के साथ उनके ठीक होने के दर में गिरावट आ रही है। बीते 10 दिनों में करीब आठ फीसदी की कमी आई है।

जयपुर हाउस पुलिस चौकी के पास क्षेत्रीय पार्षद मुकुल गर्ग ने स्वास्थ्य विभाग के जरिए कोरोना जांच शिविर लगवाया, जिसमें शुक्रवार को जयपुर हाउस, प्रताप नगर क्षेत्र के लोगों ने कोरोना की जांच कराई। 71 लोगों की जांच में से 28 लोग कोरोना संक्रमित पाए गए, जिन्हें खुद के संक्रमित होने की जानकारी नहीं थी। संक्रमण के लक्षण उनमें नजर नहीं आए।  कोरोना संक्रमित मरीजों के ठीक होने का औसत सात अप्रैल को 94.29 फीसदी था, जो कि 16 अप्रैल को कम होकर 86.18 फीसदी रह गया है। वहीं, जांच के अनुरूप संक्रमण दर सात अप्रैल को 1.72 फीसदी था, 16 अप्रैल को यह 1.87 फीसदी हो गया।

तारीख       संक्रमित    ठीक होने की दर       संक्रमण दर

07 अप्रैल     73              94.29                  1.72

08 अप्रैल     43              94.04                  1.72

09 अप्रैल     67              93.63                  1.72

10 अप्रैल     102             92.91                 1.73

11 अप्रैल      119            92.48                 1.74

12 अप्रैल      130            91.96                 1.75

13 अप्रैल       197           90.75                 1.77

14 अप्रैल        242          89.59                 1.80

15 अप्रैल       275           88.06                 1.83 

16 अप्रैल       346           86.18                 1.87

अप्रैल में ऐसे बढ़ा संक्रमण 

1 अप्रैल- 15

2 अप्रैल- 49

3 अप्रैल- 68

4 अप्रैल- 58

5 अप्रैल- 72

6 अप्रैल- 82

7 अप्रैल- 73

8 अप्रैल- 43  

9 अप्रैल- 67

10 अप्रैल- 102

11 अप्रैल- 119

12 अप्रैल- 130

13 अप्रैल- 197

14 अप्रैल- 242

15 अप्रैल- 295

16 अप्रैल- 346

अंगुली पर लगा दी स्याही तो कराना होगा मतदान, जानिए क्या है यह निर्देश

आगरा   :पंचायत चुनाव में मतदान के दौरान एक बार स्याही लगाने के बाद मतदाता को उसके मताधिकार के प्रयोग से वंचित नहीं किया जा सकेगा। इसके साथ ही अभिकर्ताओं की आपत्ति भी पहले ही सुनी जाएगी। स्याही लगाने की आपत्ति पर पीठासीन अधिकारी कोई विचार नहीं करेगा।  मैनपुरी जिले में 19 अप्रैल को होने वाले पंचायत चुनाव के मतदान के लिए निर्वाचन आयोग ने नियमों की पूरी निर्देश पुस्तिका जारी की है। इसमें कई अहम निर्णयों के संबंघ में निर्देशित किया गया है। इसमें से ही एक खास निर्देश मतदाता को लेकर की गई आपत्ति के संबंध में है।

इसके तहत अगर एक बार मतदान केंद्र पर पहुंचे मतदाता के बाएं हाथ की अंगुली पर स्याही का निशान लगा दिया गया है तो उसकी पहचान पर दर्ज कराई गई आपत्ति मान्य नहीं होगी। अभिकर्ता की आपत्ति को नजरअंदाज कर हर हाल में मतदान पार्टी उसे मतपत्र देगी।  इससे वह अपने मताधिकार का प्रयोग कर सकेगा। अगर किसी भी मतदाता की पहचान में कोई संशय है तो अभिकर्ता को स्याही लगाने से पहले ही आपत्ति दर्ज करानी होगी। आपत्ति दर्ज होने के बाद पीठासीन ऐसे मतदाता को अपने पास निर्णय के लिए ले लेगा। वहीं आगे मतदान जारी रहने दिया जाएगा।

काई मतदाता बूथ पर मतदान के लिए पहुंचता है और उसका वोट पहले ही डाला जा चुका है तो भी उसे मतपत्र उपलब्ध कराना होगा। इससे पूर्व पीठासीन अधिकारी संबंधित मतदाता की अंगुली पर स्याही का निशान चेक करने के साथ ही उससे पहचान के संबंध में सवाल-जवाब कर सकता है। लेकिन हर हाल में उसे मतपत्र उपलब्ध कराया जाएगा। हालांकि इन मतपत्रों को पेटी में न डालकर अलग लिफाफे में रखा जाएगा। सीडीओ/उप जिला निर्वाचन अधिकारी ईशा प्रिया ने बताया कि सभी पीठासीन अधिकारियों को प्रशिक्षण में चुनाव आयोग के निर्देशों के बारे में बताया जा चुका है। साथ ही उन्हें निर्देश पुस्तिका भी उपलब्ध कराई गई है। इसके अनुसार ही वे मतदान के दौरान निर्णय लेंगे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.