एनोर्ना ने जैविक मास्क की नई रेंज लॉन्च की

0 93

एनोर्ना मास्क 100% आर्गेनिक कॉटन से बने हैं और दोबारा प्रयोग किए जा सकते हैं

मेक इन इंडिया&https://www.youtube.com/channel/UCcj8JxdUrXPVdAxW-blFheA8217; पर्यावरण और समाज के हित में इस पहल के तहत एनोर्ना मास्क का शुरू हुआ उत्पादन

लखनऊ : निजी निगमित, गैर-सरकारी कंपनी एनोर्ना इंडिया प्राइवेट लिमिटेड ने फिर से प्रयोग किए जा सकने वाले और पर्यावरण के लिए सुरक्षित जैविक मास्क्स की नई रेंज लॉन्च की एनोर्ना इंडिया प्राइवेट लिमिटेड में निदेशक। लिमिटेड शुभांशु कुमार ने कहा, “हम अपने प्रतिभाशाली स्वदेशी कारीगरों द्वारा हाथ से निर्मित उत्पादों के साथ ‘द मेक इन इंडिया’ का हिस्सा बन चुके हैं. हमारे सभी उत्पाद 100% ऑर्गेनिक कॉटन से बने हैं. इन्हें आप हमारी वेबसाइट के माध्यम से ऑनलाइन भी खरीद सकते हैं. हर बार जब आप हमारे ब्रांड के प्रोडक्ट की खरीदारी करते हैं, तो आप जरूरतमंद बच्चे को मास्क दान करते हैं. हम यह सुनिश्चित करते हैं कि आपके द्वारा की गई हर खरीददारी पर हम आपकी ओर से एक बच्चे को आपकी तरफ से मास्क उपहार स्वरुप दें

एनोर्ना इंडिया प्राइवेट लिमिटेड में निदेशक सिद्धांत सिंह ने कहा, &https://www.youtube.com/channel/UCcj8JxdUrXPVdAxW-blFheA8221;वर्तमान में कोरोना वायरस के कारण फैलीं महामारी ने बड़े पैमाने पर मास्क की तत्काल मांग पैदा कर दी है. लोगों को यही सलाह दी जाती है कि जब भी अपने घरों से बाहर निकलें तो उन्हें मास्क पहनना चाहिए क्योंकि एहतियात के साथ-साथ एक संवेदनशील व्यक्ति के लिए इस घातक वायरस के संक्रमण से बचने के लिए यही एकमात्र उपाय है. कई कंपनियां मास्क का निर्माण कर रही हैं, लेकिन नॉन-डिस्पोजेबल मास्क से पर्यावरण को काफी नुकसान पहुंचता है. हमें इस खतरे से बचने के लिए एक ऐसे मास्क का विकल्प चुनने की जरूरत है, जिसका सुरक्षित तरीके से दोबारा उपयोग किया जा सके और अब नॉन-डिकंपोजेबल मास्क को ना कहने की ज़रूरत है, जो पूरी पृथ्वी के लिए ज़हर बनता जा रहा है

Leave A Reply

Your email address will not be published.