राजधानी लखनऊ में आशाओं का सम्मेलन एवं 80,000 मोबाइल फोन वितरण अभियान का शुभारंभ

0 60

सीएम योगी : आज मुझे बताते हुए प्रसन्नता है कि प्रदेश व केंद्र सरकार के संयुक्त प्रयासों से यहां 80,000 आशा बहनों को स्मार्टफोन वितरण किया जा रहा है शेष 80,000 को दूसरे चरण में स्मार्टफोन उपलब्ध कराए जाएंगे…इससे अनावश्यक कागज़ों को इकट्ठा करके बोझ कम करने की योजना है, उनकी भागदौड़ और लिखा पढ़ी में समय और श्रम दोनों बचेगा

आज का यह कार्यक्रम बहुत महत्वपूर्ण है, आप समयबद्ध ढंग से अपनी उपलब्धियों को शासन के संज्ञान में ला देंगे तो शासन से मिलने वाला आपका मानदेय समय पर आपके पास पहुंच जाएगा इस अवसर पर प्रदेश की सभी आशा बहनों को हृदय से बधाई देता हूं अभिनंदन करता हूं हाल ही में जारी भारत सरकार की स्टेट हेल्थ इंडेक्स 2019-20 की रिपोर्ट में देश के 19 बड़े राज्यों में उत्तर प्रदेश ने इंक्रीमेंटल रैंकिंग में पहला स्थान प्राप्त किया है

कोरोना वेव के दौरान दुनिया बदहवासी की स्थिति में थी, उस समय आप आशा बहनों ने डोर टू डोर काम करके मानवता बचाने का सराहनीय कार्य किया,इसका मैं स्वास्थ्य विभाग के हर कार्यक्रमों में कहता हू उसी का परिणाम रहा कि जिस उत्तरप्रदेश के बारे में लोग चिंतित रहते थे कि की इतनी बड़ी आबादी को कैसे बचाया जाए,आप सबके परिश्रम की वजह से न सिर्फ देश बल्कि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सराहना मिली,आप सबका अभिनन्दन करता हूं

उत्तर प्रदेश अब ऑक्सीजन के लिए आत्मनिर्भर बन गया है 59 जिलों में मेडिकल कॉलेज और 500 से ज्यादा ऑक्सीजन प्लांट क्रियाशील हो चुके है स्वास्थ्य क्षेत्र में आशा बहनों की सेवा अतुलनीय है इस अवसर पर सरकार ने तय किया है कि 1 अप्रैल 2020 से यानी जब से कोविड की पहली लहर शुरू हुई थी

तब से 31 मार्च 2022 तक कोविड रोकथाम करने में 24 महीनों के कार्यकाल में अच्छा प्रदर्शन करने वाले अतिरिक्त मानदेय के रूप में आशा बहुओं व आशा संगनियो को 500 रु. अतिरिक्त उपलब्ध करवाएंगे इसके साथ ही आपको 5300 रुपये मानदेय में वृद्धि करके 6000 रुपये कर रहे हैं इसके साथ टीकाकरण करने वाली संविदा एएनएम को एकमुश्त 10 हजार का मानदेय देंगे…

Leave A Reply

Your email address will not be published.