एशियन किड्स ने ऑनलाइन नेशनल राइम व पोएट्री कॉन्टेस्ट का आयोजन किया

0 73

लखनऊ : कविता पाठ साहित्य के प्रति विचारों और समझ की अभिव्यक्ति की एक कला है। एशियन किड्स जो एक प्री स्कूल है ने 2 से 10 वर्ष की आयु के छात्रों के लिए एक ऑनलाइन नेशनल राइम व पोएट्री कॉन्टेस्ट का आयोजन किया। जिसमें भारत के विभिन्न राज्यों के छात्र शामिल थे जैसे कर्नाटक, तमिलनाडु, कोयंबटूर, पंजाब, हरियाणा, महाराष्ट्र, दिल्ली , महाराष्ट्र, ओढ़िशा,और यूपी वा विभिन्न प्रतिष्ठित स्कूलों से जैसे सिटी इंटरनेशनल स्कूल, सिटी मॉन्टेसरी स्कूल, डी पी एस, जयपुरिया, इंदिरापुरम पब्लिक स्कूल, लोरेटो कॉन्वेंट, एपीजे, जीडी गोयनका, मिलेनियम स्कूल, कैथेड्रल सीनियर सेकेंडरी स्कूल, ऑक्सिलियम मैट्रिक्स गर्ल्स कॉलेज के छात्रों ने पूरे उत्साह के साथ भाग लिया।

प्रतियोगिता के मुख्य अतिथि लखनऊ प्रीस्कूल एसोसिएशन के अध्यक्ष श्री अनूप अग्रवाल ने बताया कि किस प्रकार कविता एक बच्चे की याददाश्त में सुधार करती है और भाषण विकास में मदद करती है। गेस्ट ऑफ़ ऑनर, श्री तुषार चेतवानी, महासचिव, लखनऊ प्री स्कूल एसोसिएशन, ने कोविड 19 के इन कठिन समय के दौरान भी इस आयोजन को सफल बनाने में किए गए प्रयासों की सराहना की क मजबूत प्रदर्शन वह है जिसमें कविता का अर्थ शक्तिशाली और स्पष्ट रूप से दर्शकों को बताया जाता है। यह विभिन्न स्कूलों के छात्रों द्वारा खूबसूरती से प्रदर्शित किया गया था। उन्होंने हर कविता के सभी पात्रों को जीवंत किया। उन्होंने तुकबंदी और कविताओं का पाठ करते हुए अपनी कलाकारी और स्मृति कौशल से सभी को मंत्रमुग्ध कर दिया और एक दूसरे को कड़ी टक्कर दी। छात्रों को लय, आत्मविश्वास, प्रवाह आदि के आधार पर आंका गया और उनके प्रदर्शन को ज्यूरी मेंबर्स ने सराहा

एशियन किड्स के संस्थापक निदेशक शहाब हैदर ने कहा, &https://www.youtube.com/channel/UCcj8JxdUrXPVdAxW-blFheA8220;इस नेशनल राइम व पोएट्री कॉन्टेस्ट का उद्देश्य बच्चों को अपनी प्रतिभा और कौशल राष्ट्रीय स्तर पर दिखाने का अवसर प्रदान करना है जहां विभिन्न राज्यों के विभिन्न क्षेत्रों के विभिन्न स्कूलों के छात्र भाग ले सकें जिससे बच्चों को हमारे हमारे महान राष्ट्र की संस्कृति तथा विभिन्नता की जानकारी हो सके और उन्हें हमारे सामाजिक ताने-बाने को समझने में भी मदद मिल सके”।

Leave A Reply

Your email address will not be published.