संसद के शीतकालीन सत्र में प्रमोद तिवारी के नाम पर प्रतापगढ़ की मजबूत आवाज पर मगन हुआ बेल्हा

0 8

लालगंज, प्रतापगढ़ संसद के हालिया शीत कालीन सत्र में प्रतापगढ़ की आवाज बनकर कांग्रेस के राज्यसभा सदस्य प्रमोद तिवारी के द्वारा जिस तरह से चीन के मुददे पर ज्वलंत राष्ट्रीय समस्या को अपनी वाकपटुता से धार दी गयी। वहीं न्यायपालिका की भी स्वायतता को लेकर कानून निर्मात्री संस्था में अपने धारदार तर्क रखे गये, उससे प्रतापगढ़ के लोगों को सांसद प्रमोद तिवारी की काबिलियत की दाद देते देखा सुना जा रहा है। सात दिसंबर से शुरू हुए संसद का शीतकालीन सत्र शुक्रवार को स्थगित हुआ। इस शीतकालीन सत्र में प्रबुद्ध वर्ग से लेकर आम आवाम के बीच कांग्रेस के वरिष्ठ सांसद प्रमोद तिवारी का पार्लियामेण्ट्री फोकस मे दिखना जिले के नाम को चार चांद लगा जाना जैसा देखा सुना जा रहा है। अरूणांचल प्रदेश के तवांग मे चीनी सैनिको की हरकतों को लेकर मोदी सरकार पर राज्यसभा मंे प्रमोद तिवारी के तार्किक प्रहार की भी आम आवाम मे खूब चर्चा छायी हुई है। वहीं कांग्रेस संसदीय दल की बैठक में सोनिया गांधी के भाषण को लेकर राज्यसभा मे प्रमोद तिवारी के द्वारा संसदीय परम्पराओं का बौद्धिक हवाला देने के साथ सदन के नियमों का भी उल्लेख करते हुए न्यायपालिका की स्वायतता पर सरकार की घेराबंदी के कौशल को भी लोग दाद देते दिख रहे हैं। वहीं शीतकालीन सत्र में मंहगाई तथा बेरोजगारी पर सरकार पर सांसद प्रमोद तिवारी सधे तीर के बीच युवाओ के आत्महत्या प्रतिशत बढने की चिंता को लेकर युवा वर्ग मे भी प्रमोद तिवारी एक सच्चे हमदर्द के फोकस मे चर्चा के केन्द्र मे आ गये दिख रहे हैं। शीतकालीन सत्र में जिस तरह से प्रमोद तिवारी सरकार के सामने दलित वर्ग की भी मजबूत आवाज बनकर उभरे उससे दलितों और धनगर आदि समाज मे भी राज्यसभा सदस्य प्रमोद तिवारी के राज्यसभा में तार्किक चेहरे को आम जन में एक पसंदीदा नेता की धार भी मिली आंकी जा रही है। सदन की शुरूआत के दिन सांसद प्रमोद तिवारी का राज्यसभा सभापति को आसन की बधाई देने का कलेवर सत्र अनिश्चित होने के आखिरी दिन तक चढ़ा दिखा। शुक्रवार को शीतकालीन सत्र के स्थगन से ठीक पूर्व भी सांसद प्रमोद तिवारी सदन के भीतर संसदीय मामलो में एक जानकार मर्मज्ञ व अनुभवी वाकपटु नेता की छवि के रूप में भी चमक देने मे सफल देखे गये। राज्यसभा जैसे देश के उच्च सदन मे दूसरी बार निर्वाचित होकर प्रमोद तिवारी का पहुंचना प्रतापगढ़ के लोगों मे सदन के भीतर उनकी महत्वता देख खुशियों तथा उत्साह को अब और बढ़ा गया भी देखा जाने लगा है। लोगों के बीच में यह भी चर्चा है कि उत्तर प्रदेश लगातार नौ बार विधायक तथा राज्यसभा की इस दूसरी पारी की बदौलत प्रमोद तिवारी का नाम प्रतापगढ़ की मजबूत पहचान के रूप में जिले के लिए बड़ी उपलब्धि बेल्हा की मजबूत सियासी ताकत बनकर जिले के लोगों के हौसले को सुनहली उडान का पंख दे गया है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.