राज्‍यपाल आनंदीबेन की बड़ी घोषणा, आम जनता के ल‍िए खुले राजभवन के दरवाजे

0 98
लखनऊ :  राज्‍यपाल आनंदीबेन पटेल ने कहा कि राजभवन आम जनता का है। राजभवन के दरवाजे सबके लिये खुलें हैं, जिसमें सोमवार से शनिवार तक स्कूली बच्चे तथा परिवार सहित आने वालों के लिये मंगलवार एवं बृहस्पतिवार का दिन निर्धारित किया गया है। यह जानकारी उन्‍होंने  तीन दिवसीय प्रादेशिक फल शाकभाजी एवं पुष्प प्रदर्शनी के समापन अवसर पर दी। तीन दिवसीय प्रादेशिक फल शाकभाजी एवं पुष्प प्रदर्शनी के समापन समारोह पर राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने विजेताओं को पुरस्कृत किया। उन्होंने प्रदर्शनी के तरफ लोगों के रुझान को देखते हुए तीन दिवसीय प्रदर्शनी को एक और दिन बढ़ा दिया। अब लोग मंगलवार को भी इस पुष्प प्रदर्शनी का लुफ्त उठा सकेंगे। राज्यपाल ने सभी विजेताओं को पुरस्कृत किया और उन्होंने कहा कि अगले वर्ष फरवरी माह के प्रथम सप्ताह में इस प्रदर्शनी का पुनः आयोजन किया जाएगा इस मौके पर उद्यान मंत्री श्री राम चौहान मुख्य सचिव आर के तिवारी अपर मुख्य सचिव उद्यान मनोज सिंह अपर मुख्य सचिव राजभवन महेश कुमार गुप्ता व उद्यान निदेशक डॉक्टर आरके तोमर सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे।
 
राजभवन अब आम लोगों के लिए खुला रहेगा
राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने घोषणा की कि राजभवन अब सबके ल‍िए खोल द‍िया गया है। सोमवार से शनिवार तक स्कूली बच्चे तथा परिवार सहित आने वालों के लिये मंगलवार एवं बृहस्पतिवार का दिन निर्धारित किया गया है। उन्होंने कहा कि तीन दिन की प्रदर्शनी समाप्त हो गयी है, लेकिन राजभवन उद्यान अभी आम जनता के अवलोकनार्थ 9 से 12 फरवरी 2021 तक प्रातः 8 बजे से सायं 6 बजे तक खुले रहेंगे। सुरक्षा की दृष्टि से आगंतुक अपने साथ अपना फोटोयुक्त पहचान पत्र अवश्य साथ लायें।
प्रदर्शनी में विभिन्न वर्गों के उद्यानों के लिए पुलिस महानिदेशक लखनऊ, अपर पुलिस महानिदेशक पीएसी, नगर आयुक्त नगर निगम, जलसा रिजॉर्ट, आवास आयुक्त को दिया गया। व्यक्तिगत उद्यान के लिए शशि जैन, प्रशांत कुमार को पुरस्कृत किया गया। छत पर गृह वाटिका के लिए रतन खंड के यश को पुरस्कृत किया गया। कारागार में बंदियों द्वारा उगाई गई विभिन्न प्रकार की शाकभाजी के लिए अधीक्षक जिला कारागार हरदोई को पुरस्कृत हुए। कलात्मक पुष्प सज्जा में ममता वर्मा ने पुरस्कार जीता। निर्यात किए जाने वाले प्रमुख फूलों के लिए डीआरएम उत्तर प्रदेश संजय त्रिपाठी पुरस्कृत किए गए। संकर शाकभाजी के लिए सीतापुर के रामनरेश और औषधीय उद्यान वाटिका के लिए चिकित्सा अधिकारी आयुर्वेद,राजभवन को पुरस्कृत किया गया। प्रदर्शनी में पुष्पों से बनाई गई आकर्षक आकृतियों के लिए कानपुर के रंगोली जन शिक्षण संस्थान की अल्पना राठी ने पुरस्कार जीता। प्रदर्शनी में इस बार प्रदेश से 1332 प्रतिभागियों द्वारा कुल 5028 प्रविष्टियां प्राप्त हुई।
 
इन्हें भी पुरस्कार मिले
सर्वोत्तम लाल गुलाब के लिए एचएएल के जनार्दन प्रसाद तिवारी, गोमती नगर के विराट खंड की रेजिडेंट वेलफेयर सोसाइटी, छोटा चांदगंज के विष्णु नारायण श्रीवास्तव, गोमती नगर राप्ति रिवर एंड वेलफेयर एसोसिएशन, आर्मी कैंट के सेंट्रल कमांड सिगनल रेजीमेंट की अर्चना कुलकर्णी।
 
कलात्मक पुष्प सज्जा के लिए पुरस्कृत हुए
देविशी वर्मा, सिमरन साधवानी, आदित्य मौर्य,रुनझुन दत्ता, विदुषी निगम, अंशिका तिवारी, वंदना मिश्रा, अनुराधा मिश्रा।
 
सर्वाधिक एवं सर्वोत्तम प्रदर्शन के लिए मिला नकद पुरस्कार
अधीक्षक राजभवन उद्यान, मंजू वर्मा, ओमप्रकाश लोधी, अल्पना राठी,उपाध्यक्ष लखनऊ विकास प्राधिकरण, कैलाश नाथ मौर्य फौजी कॉलोनी, प्रशांत कुमार सिंह विक्रमादित्य मार्ग, यश रतन खंड, अधीक्षक जिला कारागार हरदोई, ममता वर्मा सेनानी विहार, संजय त्रिपाठी डीआरएम उत्तर रेलवे, चिकित्सा अधिकारी आयुर्वेद राजभवन उद्यान

Leave A Reply

Your email address will not be published.