भाजपा की जीत का जश्न मनाना छात्रों को पड़ा महंगा

0 24

विश्वविद्यालय प्रशासन ने थमायी नोटिस

तीन दिन में मांगा जवाब, वरना होगा निष्कासन

लखनऊ : उत्तर प्रदेश में भाजपा की प्रचंड जीत को लेकर खुशी मना रहे छात्रों को लखनऊ विश्वविद्यालय के नये कैम्पस में नोटिस जारी की गयी है। छात्रों से तीन दिन के अंदर अपना पक्ष रखने के निर्देश दिये गये हैं। अपना पक्ष न रख पाने की स्थिति में छात्रों को निष्कासन की कार्रवाई करने की चेतावनी दी गयी है।

वहीं छात्रों का आरोप है कि भाजपा की जीत पर जय श्री राम के नारे लगाए जा रहे थे। यह बात बात असिस्टेंट प्राक्टर मो अहमद को रास नहीं आई। उन्होंने विद्यार्थियों को शराब के नशे में गाली गलौज दी और कार्रवाई संबंधी नोटिस भी जारी कर दी। उधर, विश्वविद्यालय प्रशासन ने विद्यार्थियों को एक सिरे से खारिज करते हुए घटना के पीछे विद्यार्थियों की शरारत बताई हैं।

पूरा मामला 10 मार्च की देर रात का है। विश्वविद्यालय के दूसरे परिसर के विद्यार्थियों का कहना है कि वे भाजपा की जीत की खुशी में उत्साहित थे। कुछ विद्यार्थी छात्रावास के ठीक सामने वालीबाल खेल रहे थे। भाजपा की जीत की खुशी मना रहे विद्यार्थियों ने इस दौरान कई बार जय श्री राम के नारे लगाए।

नारेबाजी और शोर शराबा सुन असिस्टेंट प्रोक्टर मो अहमद वहां पहुंच गए। छात्रों का आरोप है कि असिस्टेंट प्रोक्टर शराब के नशे में थे। पहुंचते ही उन्होंने जय श्री राम के नारे लगाने पर नाराजगी जाहिर की। विद्यार्थियों के न मानने पर उन्होंने गाली गलौज शुरू कर दी। उसके बाद कई प्राक्टोरियल बोर्ड के अन्य सदस्य व शिक्षक भी वहां आ गए।

उन्होंने भी छात्रों पर कार्रवाई किए जाने की धमकी दी। दूसरे दिन 11 मार्च को विश्वविद्यालय के छ: छात्रों को कारण बताओ नोटिस जारी कर दी गई। इससे नाराज विद्यार्थियों ने मामले की शिकायत विश्वविद्यालय प्रशासन के उच्चाधिकारियों से की है। वहीं दूसरी तरफ असिस्टेंट प्राक्टर, लखनऊ विश्वविद्यालय, द्वितीय कैंपस मोहम्मद अहमद का कहना है कि मैंने आज तक शराब नहीं पी।

छात्र जो आरोप लगा रहे हैंए उसका प्रमाण दें, अथवा मेरी जांच करा ली जाए। 10 मार्च की रात छात्रावास में बहुत हुड़दंग हो रहा था। कैंपस का माहौल खराब होने की स्थिति पैदा हो गई थी। मैंने विद्यार्थियों से सिर्फ यही कहा था कि इतनी रात में शोर शराबा करना ठीक नहीं।

कैंपस में ही लोगों के आवास भी हैं। इससे लोगों को परेशानी हो रही है।इस पर छात्रों ने मुझे और अन्य शिक्षकों को गाली गलौज देना शुरू कर दिया। इसी अशिष्टता पर नोटिस जारी की गई है। जय श्री राम के नारे पर कार्रवाई की बात गलत है। सरकार हमारी भी है। हमें भी जीत की खुशी है। हम भी गोरखपुर से हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.