कड़ाके की ठंड में बिना स्वेटर विद्यालय जा रहे बच्चे

0 10

मिल्कीपुर-अयोध्या :  मिल्कीपुर शिक्षा क्षेत्र के परिषदीय विद्यालयों में पढ़ने वाले बच्चों पर उनके अभिभावकों की लापरवाही भारी पड़ रहा है। सरकार की तरफ से अनुदान राशि मिलने के बावजूद अभिभावक स्वेटर नहीं खरीद रहे हैं। ऐसे में कड़ाके की ठंड में नौनिहालों को बगैर स्वेटर स्कूल जाना पड़ रहा है। स्कूलों में ड्रेस व स्वेटर खरीद को लेकर पड़ताल की तो बेहद चौंकाने वाली तस्वीर सामने आई। अधिकतर बच्चे बिना स्वेटर के स्कूल जाते मिले। शिक्षा क्षेत्र के 145 परिषदीय विद्यालयों में 26971 हजार नौनिहाल छात्र-छात्राएं शिक्षा ग्रहण कर रहे हैं। इन बच्चों को सरकार की तरफ से निशुल्क पाठ्य पुस्तक के अलावा ड्रेस, जूता, मोजा व स्वेटर के लिए अनुदान राशि उपलब्ध कराई जाती है। पर अनुदान राशि डीबीटी के माध्यम से उनके अभिभावकों के खाते में भेजी जाती है सरकार की तरफ से अब तक 16718 हजार छात्र छात्राओं के अभिभावकों के खाते में डीबीटी के जरिए 2 करोड़ 61 हजार 600 रूपए भेजे जा चुके हैं। अनुदान की धनराशि मिलने के बावजूद अधिकतर बच्चों के पास ना तो स्कूल एड्रेस है और न ही स्वेटर।

बिना स्वेटर के इस कड़ाके की ठंड में बच्चों को ठिठुरते हुए विद्यालय जाना पड़ रहा है। हालांकि बेसिक शिक्षा विभाग ड्रेस और स्वेटर की खरीद के लिए अभिभावकों को जागरूक करने में लगा है विभाग का पूरा जोर अभी ड्रेस के साथ स्वेटर खरीद पर है जिससे बच्चों को ठंड से बचाया जा सके। खंड शिक्षा अधिकारी मिल्कीपुर रिचा सिंह ने बताया कि शिक्षा क्षेत्र के 1623 छात्रों का आधार कार्ड अभी नहीं बना है उनका आधार कार्ड विद्यालय में कैंप लगाकर बनवाया जा रहा है। शिक्षा क्षेत्र के 4253 छात्र छात्राओं के आधार कार्ड में त्रुटियां होने के चलते अभिभावकों के खाते में ड्रेस के लिए पैसे नहीं गए हैं जिस को ठीक कराया जा रहा है जल्द ही पैसा पहुंच जाएगा।

Leave A Reply

Your email address will not be published.