कोरोना के बढ़ते मामलों पर सीएम योगी सख्त

0 54

लखनऊ : कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच उत्तर प्रदेश में चिकित्सा इंतजामों की बेहतरी को लेकर काम तेज हो गया है CM योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर 3-4 जनवरी को सभी जिले में अस्पतालों में मॉक ड्रिल होगी इस बीच सीएम योगी ने जेलों में कैदी और उनके संबंधियों से मुलाकात पर रोक लगाने और जरूरत के मुताबिक कंटेनमेंट जोन निर्धारित करने के निर्देश दिए हैं दरअसल बाराबंकी जेल में एक बंदी की कोविड पॉजिटिव होने के बाद मौत हो गई थी।

शनिवार को उच्चस्तरीय टीम-09 के साथ कोविड के हालात की समीक्षा करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि मार्च 2020 में जब प्रदेश में पहला कोविड केस आया था तब हमारे पास न टेस्टिंग फैसिलिटी थी न ही उपचार की आज हर जिले में आरटीपीसीआर टेस्ट लैबोरेटरी एक्टिव हैं हर जिले में ऑक्सीजन प्लांट हैं और आइसोलेशन, आईसीयू बेड्स भी पर्याप्त संख्या में हैं 550 से अधिक ऑक्सीजन प्लांट्स हैं।

कोरोना के खिलाफ अब तक की लड़ाई में उत्तर प्रदेश के प्रयास को वैश्विक सराहना मिली है, आगे भी हम सभी के सहयोग से जीत हासिल करेंगे उन्होंने कहा कि विभिन्न राज्यों में कोविड के ‘ओमिक्रोन’ वैरिएंट का संक्रमण तेजी से फैल रहा है, हालांकि विशेषज्ञों के मुताबिक वायरस कमजोर है ऐसे में मास्क, सैनिटाइजेशन और सोशल डिस्टेंसिंग की जरूरत को समझना होगा

सीएम योगी ने दिए निर्देश :

1 पुलिस द्वारा लोगों को मास्क लगाने, भीड़ न लगाने तथा रात्रि 10 बजे के बाद घर जाने के लिए प्रेरित किया जाए

2 रात्रिकालीन कोरोना कर्फ्यू के नाम पर किसी के भी साथ दुर्व्यवहार न किया जाए. इस बात पर भी ध्यान दिया जाए कि लोगों में अनावश्यक पैनिक न हो

3 प्रदेश के सभी जनपदों में स्थापित किए गए इंटीग्रेटेड कोविड कमांड एंड कंट्रोल सेंटर (आईसीसीसी) को 24×7 एक्टिव रखा जाए. पूर्व की भांति वहां नियमित बैठकें आयोजित की जाएं

4 आईसीसीसी हेल्पलाइन नंबर सार्वजनिक कर इसका व्यापक प्रचार-प्रसार किया जाए लोग किसी जरूरत पर तत्काल वहां संपर्क कर सकते हैं

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.