अखिलेश यादव पर सीएम योगी का बड़ा वार, बोले पिछली सरकार में भ्रष्‍टाचार के चलते बंद थीं भर्तियां हमने दीं 4.5 लाख नौकरियां

0 72

लखनऊ : मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने गुरुवार को एक बार फिर उत्‍तर प्रदेश की पूर्ववर्ती अखिलेश यादव सरकार पर जमकर हमला बोला। उन्‍होंने आरोप लगाया कि पिछली सरकार के भ्रष्‍टाचार के चलते यूपी में भर्तियां बंद थीं। योग्‍यता के बावजूद युवा भटक रहे थे। उन्‍होंने कहा कि सरकार संभालने के साथ ही हमने कोशिश की। अब तक 4.5 लाख युवाओं को सरकारी नौकरी दे दी है। जब हमारी सरकार पांच साल पूरे करेगी तब तक पांच लाख युवाओं को हम नौकरी दे चुके होंगे।

मुख्‍यमंत्री, गुरुवार को मिशन रोजगार के तहत उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग (यूपीपीएससी) से चयनित प्रवक्ता और सहायक अध्यापकों को नियुक्ति पत्र वितरण कार्यक्रम को सम्‍बोधित कर रहे थे। उन्‍होंने कहा कि आज प्रदेश में निवेश का माहौल है। यूपी की तरफ लोगो की निगाहें हैं। इज़ ऑफ डूइंग बिज़नेस में यूपी देश के अंदर सबसे अच्छा परफॉर्म कर रहा है। यूपी में प्रति व्यक्ति आय बढ़ी है। सबसे बड़ी आबादी के बावजूद पहले यूपी अर्थव्यवस्था में छठवें नम्बर पर था लेकिन अब हम देश की दूसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था के रूप में सामने आए हैं

मेरिट के आधार पर मिल रहे मौके

मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने कहा कि लोक सेवा आयोग से चयनित शिक्षकों को ऑनलाइन मेरिट के आधार पर कॉलेज अलॉट हुए हैं। शिक्षा जगत में ऐसे समय में काम करने का मौका मिला है जब नई शिक्षा नीति आयी हैं। 2022 में पूरे देश मे ये नीति लागू हो जाएगी। शिक्षा किताबी ज्ञान नहीं बल्कि इन्नोवेशन का भी माध्यम बनेगी। हर छात्र-छात्र के लिए विकल्प है। 2017 से पहले भी आपने एग्जाम दिया होगा लेकिन योग्यता के बाबजूद मौका नहीं मिला होगा। लेकिन 2017 के बाद अपने देखा होगा कि प्रदेश में पारदर्शिता के साथ भर्तियां हुईं। अब तक 4.5 लाख सरकारी नौकरी दी है। पिछली सरकार के भ्रष्‍टाचार के चलते ये भर्तियां बंद थीं। योग्यता के बावजूद युवा भटक रहा था। भष्ट्राचार नंगा तांडव कर रहा था। हमने सत्ता संभालने के साथ ही कोशिश की। 15-20 सालो के आंकड़े देख लीजिए। इतनी भर्ती कभी नहीं हुई होगी

डिप्‍टी सीएम बोले-पहले बोर्ड परीक्षा में होती थी केंद्रों की नीलामी

कार्यक्रम में डिप्‍टी सीएम दिनेश शर्मा ने कहा कि पहले बोर्ड परीक्षा केंद्रों की नीलामी होती थी। ए की जगह बी परीक्षा देता था। बाहर से लोग आते थे। लेकिन हमने केंद्रों को ऑनलाइन निर्धारि‍त किया। सीसीटीवी लगवाया, स्टेटिक मजिस्ट्रेट, नकल माफियाओं को पकड़ना, स्टेट कण्ट्रोल रूम बनवाया। आज नकलविहीन परीक्षाएं होती हैं। पाठ्यक्रम 1947 से वही चल रहा था लेकिन हमने एनसीईआरटी का पाठ्यक्रम लागू किया। प्रमाणपत्र और अंकपत्र को ऑनलाइन देने की व्यवस्था बनाई। नियुक्ति पत्र पाने वाले शिक्षकों को अच्‍छे गुरु बनने के मंत्र देते हुए डिप्‍टी सीएम ने कहा कि कक्षाएं मत छोड़िए। बगैर अध्ययन किये कक्षा में न जायें। आपमे पढ़ने की भूख होनी चाहिए। टीचर को कभी छात्र नही भुलाता। विद्यार्थी हमेशा उस टीचर का सम्मान करता है जो पूरे मन से पढ़ाते हैं

शिक्षा मंत्री बोले-स्‍वर्ण युग के रूप में जाना जाएगा यह समय

कार्यक्रम में बेसिक शिक्षा मंत्री डॉ.सतीश द्विवेदी ने कहा कि यूपी नम्बर वन है। उत्तर प्रदेश में योगी जी का कार्यकाल स्वर्ण युग के रूप में जाना जाएगा। स्वास्थ्य, शिक्षा, महिला, रोजगार जैसे मुद्दे पर योगी जी की सरकार ने ऐतिहासिक काम किया। स्वतंत्र भारत के इतिहास में इन 5 वर्षों ने मुख्यमंत्री को रोजगार पुरुष और विकास पुरुष के रूप में स्थापित किया है

इन 11 शिक्षकों को नियुक्ति पत्र

सरिता सिंह-कला विषय-रायबरेली

उमेश कुमार-गणित-लखनऊ

रामजी लाल-बाराबंकी

संगीता-हिंदी-कानपुर

शीबा-सामाजिक विज्ञान-लखनऊ

प्रतिमा सिंह-अर्थशात्र-वाराणसी

प्रियंका पांडेय-प्रवक्ता

बीनू सिंह-संस्कृत

बीरेंद्र कुमार-नागरिक शास्त्र-बाराबंकी

सिकन्दर पासवान-रसायन शास्त्र- गोरखपुर

दीप कुमार भौतिक शास्त्र हरदोई

Leave A Reply

Your email address will not be published.