नैक के लिए सामूहिक प्रयास जरूरीः कुलपति

दो दिवसीय नैक कार्यशाला का हुआ समापन

0 5

 

जौनपुर। वीर बहादुर सिंह पूर्वांचल विश्वविद्यालय के आर्यभट्ट सभागार में सोमवार को दो दिवसीय नैक कार्यशाला का समापन हुआ। कार्यशाला में विश्वविद्यालय की नैक की तैयारियों की बिंदुवार चर्चा हुई और सुझाव पर अमल का निर्णय लिया गया।
समापन सत्र को संबोधित करतीं हुई कुलपति प्रो. निर्मला एस मौर्य ने कहा कि नैक का मूल्यांकन सभी विभागों के सामूहिक प्रयास से सफलतापूर्वक संपन्न होता है। विश्वविद्यालय हित में सभी मिलकर नैक के लिए जो भी आवश्यक हो समयबद्ध तरीके से करें।
कार्यशाला के प्रशिक्षक एवं नैक के असिस्टेंट सलाहकार डॉ.नीलेश पांडेय ने कहा कि नैक के लिए विभागवार डॉक्यूमेंट तैयार करें। विश्वविद्यालय परिसर के विभागों द्वारा बहुत सारी गतिविधियाँ और उपलब्धियां हासिल की गई है उनकी रिपोर्ट और फ़ोटो की फाइलिंग होनी चाहिए।अपने अच्छे कामों की प्रस्तुति सही ढंग से करने पर नैक में अच्छी ग्रेडिंग मिलती है।
आंतरिक गुणवत्ता प्रकोष्ठ के समन्वयक प्रो. मानस पाण्डेय ने दो दिन की कार्यशाला की रिपोर्ट प्रस्तुत की. धन्यवाद ज्ञापन प्रो देवराज सिंह, समन्वयन डा. गिरधर मिश्र एवं संचालन डॉ धर्मेंद्र सिंह ने किया.
इस अवसर पर वित्त अधिकारी संजय कुमार राय, प्रो अविनाश पाथर्डीकर, प्रो. वंदना राय, प्रो. रामनारायण, प्रो ए. के. श्रीवास्तव, प्रो. अजय प्रताप सिंह, प्रो. रजनीश भास्कर, प्रो संदीप सिंह, प्रो मुराद अली, प्रो नुपुर गोयल, प्रो प्रदीप कुमार, प्रो राजेश शर्मा, डॉ प्रमोद यादव, डॉ संजीव गंगवार, डॉ राजकुमार, डॉ संतोष कुमार, डॉ सुनील कुमार, डॉ दिग्विजय सिंह राठौर, डॉ जान्हवी श्रीवास्तव, डॉ आशुतोष सिंह, डॉ अमित वत्स, डॉ विनय वर्मा, मंगला यादव, डॉ नृपेन्द्र सिंह समेत अन्य शिक्षक उपस्थित रहे.
फोटो सांख्या 1

Leave A Reply

Your email address will not be published.