स्कूलों के मनमाने रवैये को लेकर कांग्रेसियों का अनशन शुरू

0 17

सुलतानपुर : 295 बच्चों को नहीं मिली कॉपी-किताब व जूता-मोजा, स्कूलों के इस रवैये के खिलाफ भूख हड़ताल पर बैठे कांग्रेसी। आज कांग्रेस के प्रदेश सचिव रणजीत सिंह सलूजा समेत चार नेता अनशन पर बैठ गए हैं। वो इसलिए कि यहां 295 परिवार के बच्चों को शिक्षा के अधिकार अधिनियम के तहत सुविधाएं नहीं मिल रही हैं।

गरीब घर के बच्चों को स्कूलों से अब तक न तो कॉपी-किताब ही मिली और न ही जूता-मोजा। इसी बात से खफा कांग्रेसी नेताओं ने भूख हड़ताल शुरू की है। शहर के स्थानीय तिकोनिया पॉर्क में कांग्रेस प्रदेश सचिव रणजीत सिंह सलूजा के नेतृत्व में सूचना के अधिकार प्रकोष्ठ के प्रदेश सचिव मनोज कुमार शुक्ला, कांग्रेस पिछड़ा वर्ग के प्रदेश महासचिव मोहसिन सलीम और श्रमिक प्रकोष्ठ के जिलाध्यक्ष हामिद राइनी आज भूख हड़ताल पर बैठे।

इस संदर्भ में मोहसिन सलीम ने बताया कि शिक्षा का अधिकार अधिनियम 2009 के अंतर्गत सरकार द्वारा निजी स्कूलों में गरीब बच्चों को ड्रेस, किताब और कापी की 5 हजार रुपए की धनराशि नहीं दी जा रही। जिसके विरोध में आज भूख हड़ताल पर बैठे हैं। उन्होंने यह भी बताया कि हम कांग्रेसी जब तक मांगे नही मांन ली जाती तब तक संघर्ष जारी रखेंगे।

इसी क्रम में रणजीत सिंह सलूजा ने बताया कि प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह के कार्यकाल में 2009 में शिक्षा का अधिकार अधिनियम लागू हुआ था। उन्होंने बताया कि इसके द्वारा प्राईवेट स्कूलों में गरीब बच्चों को प्रवेश दिलाया जाता है। 2018 के पहले इस योजना के तहत कोई भी प्रवेश नहीं होता था।

इसके बाद हम लोगो ने मुहिम चलाई तब से अब तक 295 बच्चों का चयन प्राईवेट स्कूलों में हुआ है। योजना के तहत 5 हजार की धनराशि अभिभावकों के खाते में जाना है जिसे विभाग ने अभी तक नहीं भेजा। ऐसे में बच्चे प्रवेश लेकर पास हुए अगली क्लास में पहुंच गए। लेकिन पैसे न होने की वजह से वो कॉपी किताब नहीं ले पाए।

Leave A Reply

Your email address will not be published.