आइसोलेशन बेड पर डेंगू और बुखार के मरीजों का इलाज होगा

0 15

लखनऊ : कोरोना संक्रमितों के लिए आरक्षित ऑक्सीजन की सुविधा वाले आइसोलेशन बेड पर डेंगू और बुखार के मरीजों का इलाज होगा। शुक्रवार को टीम-9 की बैठक में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इन आइसोलेशन बेड को डेंगू, बुखार व अन्य बीमारियों के पीड़ितों के इलाज के लिए उपलब्ध कराने के लिए ये निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि प्रमुख सचिव चिकित्सा शिक्षा तत्काल आगरा और फिरोजाबाद में कैंप करें। वहां एक-एक मरीज के उपचार की व्यवस्था को देखें और इसमें सुधार के लिए बिना देरी किए सभी जरूरी कदम उठाए जाएं। मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि प्रत्येक जिले के एक-एक मरीज की सेहत पर नजर रखी जाए। नियमित अंतराल पर उनके परिजनों को मरीज की सेहत की जानकारी दी जाए। बरसात में जल जमाव और मौसमी बीमारियों की रोकथाम के लिए सभी जरूरी कदम उठाए जाएं। स्वास्थ्यकर्मी घर-घर जाकर बुखार से पीड़ित और कोविड के लक्षण वाले लोगों की पहचान करें। 45 वर्ष से अधिक आयु के जिन लोगों ने अब तक कोविड वैक्सीन की एक भी डोज न ली हो, उनकी सूची बनाई जाए। उन्हें टीकाकरण के लिए प्रोत्साहित किया जाए।

सीएम योगी ने पूर्वी उत्तर प्रदेश में बाढ़ व अतिवृष्टि से प्रभावित लोगों के राहत और पुनर्वास का काम तेज करने के निर्देश दिए। गांवों में बड़ी नावों का उपयोग करें। ताजा स्थिति के मुताबिक रोहिन नदी को छोड़ शेष सभी नदियों में जलस्तर स्थिर है। प्रभावित लोगों की समस्याओं को संवेदनशीलता के साथ निस्तारित करें। मौजूदा स्थितियों के मद्देनजर पांच सितंबर से प्रदेश भर में स्वच्छता अभियान चलेगा। इसके लिए नामित नोडल अधिकारियों को जिम्मेदारी सौंप दी गई है। ये अधिकारी बाढ़ व अतिवृष्टि से प्रभावित क्षेत्रों में राहत कार्यों की भी मॉनिटरिंग करें। वहीं सात सितंबर से आशा, संगिनी, आंगनबाड़ी सहित सभी संबंधित कर्मियों के सहयोग से स्वास्थ्य विभाग पूरे प्रदेश में निगरानी कार्यक्रम चलाए।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को टीम-09 की बैठक में अधिकारियों से कहा कि वर्तमान में प्रदेश में कुल एक्टिव कोविड केस की संख्या 239 है। यह अतिरिक्त सतर्कता और सावधानी बरतने का समय है। थोड़ी सी लापरवाही बड़ी समस्या का कारक बन सकती है। विगत 24 घंटे में हुई कोविड टेस्टिंग में प्रदेश के 64 जिलों में संक्रमण का एक भी नया केस नहीं पाया गया। 11 जनपदों में इकाई अंक में मरीजों की पुष्टि हुई। आज 24 जनपदों में एक्टिव केस शून्य हैं। जनपद अलीगढ़, अमेठी, अयोध्या, बागपत, बलिया, बांदा, बस्ती, बिजनौर, चित्रकूट, देवरिया, फतेहपुर, गाजीपुर, गोंडा, हमीरपुर, हरदोई, हाथरस, ललितपुर, महोबा, मऊ, मुजफ्फरनगर, पीलीभीत, रामपुर, शामली और सीतापुर में आज कोविड का एक भी मरीज शेष नहीं है। यह जनपद आज कोविड संक्रमण से मुक्त हैं। औसतन हर दिन ढाई लाख टेस्ट हो रहें हैं, जबकि पॉजिटिविटी दर 0.01 बनी हुई है और रिकवरी दर 98.7 फीसदी है।

ट्रेसिंग, टेस्टिंग और त्वरित ट्रीटमेंट के मंत्र से अच्छे परिणाम मिल रहे हैं। अब तक 07 करोड़ 29 लाख 86 हजार 724 कोविड सैम्पल की जांच की जा चुकी है। विगत 24 घंटे में 02 लाख 37 हजार 439 कोविड सैम्पल की जांच की गई और 18 नए मरीजों की पुष्टि हुई। इसी अवधि में 21 मरीज स्वस्थ होकर डिस्चार्ज हुए। अब तक 16 लाख 86 हजार 308 प्रदेशवासी कोरोना संक्रमण से मुक्त होकर स्वस्थ हो चुके हैं। इस स्थिति को और बेहतर करने के लिए ट्रेस, टेस्ट और ट्रीट की नीति के अनुरूप सभी जरूरी प्रबंध किए जाएं। प्रदेशवासियों को कोविड टीका-कवर उपलब्ध कराने का काम तेजी से चल रहा है। विगत दिवस 16 लाख 26 हजार 897 लोगों ने टीकाकवर प्राप्त किया। उत्तर प्रदेश में कोविड वैक्सीनेशन का आंकड़ा 07 करोड़ 58 लाख के पार हो चुका है। अब तक 06 करोड़ 36 लाख 88 हजार से अधिक नागरिकों ने टीके की कम से कम एक खुराक प्राप्त कर ली है। यह देश के किसी एक राज्य में हुआ सर्वाधिक टीकाकरण है। टीके की सुचारु आपूर्ति के लिए भारत सरकार से सतत संवाद बनाया जाए।

Leave A Reply

Your email address will not be published.