कलेक्ट्रेट सभागार में जिला पर्यावरण समिति की बैठक सम्पन्न

0 108

सीतापुर दिनांक : जिलाधिकारी विशाल भारद्वाज की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में जिला पर्यावरण समिति की बैठक सम्पन्न हुयी। बैठक के दौरान जिलाधिकारी ने निर्देश दिये कि 04 जुलाई 2021 को आयोजित होने वाले वृक्षारोपण जन आंदोलन 2021 की तैयारियां समय से पूर्ण की जायें तथा वांछित सूचनाएं समय से प्रेषित की जाये। उन्होंने कहा कि इस अभियान का उद्देश्य जन-जन को अभियान से जोड़कर वृक्षों की महत्ता के विषय में व्यापक जागरूकता प्रसारित करना है। इसके लिये सभी विभाग कोविड-19 प्रोटोकाल का पालन करते हुये आयोजन सुनिश्चित करें तथा जन सामान्य एवं मा0 जनप्रतिनिधियों को भी अभियान से जोड़ा जाये।

उन्होंने यह भी निर्देश दिये कि सूचनाएं वाट्सअप ई-मेल पर प्रेषित करने के साथ-साथ वन विभाग द्वारा निर्धारित क्विक कैप्चर एप पर जियो टैगिंग भी कराया जाना सुनिश्चित किया जाये। जिलाधिकारी ने वृक्षारोपण जन आन्दोलन 2021 के अन्तर्गत अन्य सभी विभागों द्वारा अभी तक की गयी तैयारियों यथा गड्ढा खुदान, इण्डेन्ट जारी करना तथा पौध ढुलान आदि के ससमय पूर्ण होने पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुये 04 जुलाई को पूर्ण मनोयोग से निर्धारित लक्ष्य के अनुसार पौधे रोपित कराये जाने के निर्देश भी दिए। उन्होंने कहा कि जनसामान्य को भी अभियान से जोड़ते हुये अधिक से अधिक पौधे रोपित करने तथा लगाये गये पौधों के संरक्षण हेतु प्रेरित किया जाये।

बैठक के दौरान प्रभागीय निदेशक सामाजिक वानिकी रूस्तम परवेज ने एजेण्डा प्रस्तुत करते हुये बताया कि जनपद के लक्ष्य 6343646 के सापेक्ष 6389815 का गड्ढा खुदान पूर्ण हो गया है। उन्होंने बताया कि निर्धारित लक्ष्य से अधिक गड्ढा खुदान कराया जा चुका है। उद्यान, रेशम, कृषि विभाग आदि विभागों के संसाधनों द्वारा 447657 पौधे रोपित किया जाना भी प्रस्तावित है। उन्होंने बताया कि पौध आपूर्ति हेतु वन विभाग द्वारा 4142808 पौधों का इण्डेन्ट जारी किया जा चुका है, जिसमें अन्य विभागों के 3879793 पौधों का ढुलान पूर्ण हो गया है जो कि लक्ष्य का 93.65 प्रतिशत है। उन्होंने बताया कि वन विभाग की 27 पौधशालाओं में 8458280 पौधे तथा उद्यान विभाग की 09 पौधशालाओं में 450000 पौधे (कुल 8908280 पौधे) उपलब्ध हैं। उन्होंने बताया कि सभी आवश्यक तैयारियां पूर्ण की जा चुकी हैं तथा संबंधित विभागों से समन्वय स्थापित करने हेतु कन्ट्रोल रूम भी संचालित किया जायेगा। उन्होंने बताया कि 5 महर सैन्य भूमि में 3.0 हे0 क्षेत्र में 3300 पौध की औषधि वाटिका का निर्माण भी प्रस्तावित है, जिसमें हर, बहेड़ा, आवला, बेल, बालम खीरा, गिलोय, जामुन व अर्जुन की पौध रोपित किया जाना प्रस्तावित है।

बैठक के दौरान पुलिस क्षेत्राधिकारी पीयूष सिंह, उपनिदेशक कृषि अरविंद मोहन मिश्रा, उपायुक्त उद्योग आशीष गुप्ता, अपर जिला पंचायत राज अधिकारी इंद्र नारायण सिंह, प्रभागीय निदेशक सामाजिक वानिकी रुस्तम परवेज सहित सभी नगरीय निकायों के अधिशासी अधिकारी एवं सम्बंधित अधिकारी उपस्थित रहे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.