जिलाधिकारी ने राबर्ट्सगंज पुनर्गठन पाईप पेयजल योजना का किया गया औचक निरीक्षण

0 5

सोनभद्र : शासन की मंशा के अनुरूप आज जिलाधिकारी चन्द्र विजय सिंह ने राबर्ट्सगंज पाईप पेयजल परियोजना का औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी ने सम्बन्धित सहायक अभियन्ता से अब तक किये गये निर्माण कार्यों की प्रगति के सम्बन्ध में जानकारी ली और उन्होंने निर्माण एजेन्सी के सहायक अभियन्ता को निर्देेशित करते हुए कहा कि राबर्ट्सगंज पुनर्गठन पाईप पेयजल योजना का निर्माण कार्य निर्धारित समयन्तर्गत गुणवत्ता पूर्ण ढंग से पूर्ण किया जाना सुनिश्चित किया जाये। निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी ने कहा कि विद्युत आपूर्ति की व्यवस्था ठीक ढंग से कर सुनिश्चित कर लें, जिससे कार्य करने में किसी प्रकार की समस्या का सामना न करना पड़ें।

जिलाधिकारी ने नगर पालिका परिषद स्थित स्वर्ण जयन्ती चैराहे का भी औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान वहां पर उपस्थित लोगों ने बरसात के समय जल भराव की समस्या हो जाने के सम्बन्ध में अवगत कराया, इस दौरान अधिशासी अधिकारी नगर पालिका परिषद विजय यादव को निर्देशित करते हुए कहा कि सड़क सुरक्षा सप्ताह के दृष्टिगत स्वर्ण जयन्ती चैक चैराहे के आस-पास व ओवरब्रिज के नीचे किये गये अवैध अतिक्रमण को अभियान चलाकर हटाया जाये और ओवर ब्रिज के नीचे बेरिकेटिंग की व्यवस्था सुनिश्चित की जाये, जिससे सड़क पर आवागमन के दौरान किसी प्रकार की दुर्घटना की संभावना न रहें। उन्होंने जल भराव की समस्या के निराकरण हेतु चण्डी तिराहा के पास तक निर्माणाधीन नाला के निर्माण का कार्य अब तक क्यों बाधित है, के सम्बन्ध में जानकारी हेतु अपर जिलाधिकारी नमामि गंगे को निर्देशित किया कि नाला निर्माण कार्य में जो भी अवरोध हो, उसे समाप्त कराकर नाले के निर्माण का कार्य शीघ्र प्रारंभ कराया जाये

जिससे कि नगर पालिका क्षेत्र में लोगों को जल भराव की समस्या से निजात मिल सके। जिलाधिकारी ने बहुअरा व पसही कला में स्थापित अमृत सरोवर का औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी ने अमृत सरोवर के निर्माण कार्य की प्रगति की जानकारी ली और यह पाया कि अमृत सरोवर के निर्माण कार्य में काफी कम संख्या में मजदूर कार्य कर रहे थे, जिस पर जिलाधिकारी ने डी0सी0 मनरेगा एवं खण्ड विकास अधिकारी राबर्ट्सगंज को निर्देशित करते हुए कहा कि अमृत सरोवर के निर्माण कार्य में तेजी लायी जाये और अधिक से अधिक संख्या में मजदूरों को सरोवर के निर्माण कार्य में लगाया जाये, जिससे सरोवर के निर्माण का कार्य अतिशीघ्र पूर्ण हो सके।

Leave A Reply

Your email address will not be published.