आसन्न पेयजल संकट को देखते हुए डीएम अलर्ट कुओं, हैंडपंपों की मरम्मत व टैंकरों से सप्लाई हो सुनिश्चित

0 57

झांसी : जिलाधिकारी रविंद्र कुमार ने ग्रीष्म काल में पेयजल संकट को दृष्टिगत रखते हुए जन सामान्य को पेयजल की आपूर्ति सुचारू रूप से किए जाने के लिए कैंप कार्यालय में आवश्यक बैठक ली और शहरी व ग्रामीण क्षेत्रों में जलापूर्ति के संबंध में जिला विकास अधिकारी को निर्देशित किया कि वे ग्राम प्रधान व ग्राम पंचायत अधिकारी से संपर्क स्थापित कर ग्राम वार लगे हुए हैंडपंपों, ग्रीष्मकाल के सूखे हुए हैंडपंपों की संख्या एवं सूखे हुए हैंडपंपों के सापेक्ष की गई

वैकल्पिक व्यवस्था एवं वैकल्पिक व्यवस्था न होने पर टैंकरों से जलापूर्ति के संबंध में सूचना उपलब्ध कराएं ताकि क्षेत्र में कोई भी पेयजल समस्या से प्रभावित ना रहे। उन्होंने निर्देश दिए कि क्षेत्र में कहीं पर भी पेयजल की समस्या ना हो, इसे संवेदनशील होकर सुनिश्चित किया जाए, उन्होंने नगर निकायों में पेयजल की सुचारू रूप से आपूर्ति के संबंध में निर्देश दिए कि विगत वर्ष पेयजल की आपूर्ति हेतु लगाए गए

टैंकरों का डाटा संकलित कर नगर निकाय वार टैंकर नंबर, ड्राइवर का नाम व मोबाइल नंबर, टैंकर सरकारी/निजी/संस्था का है, टैंकर चालू स्थिति में है या किसी अन्य कार्य में व्यस्त है, के संबंध में सूचना उपलब्ध कराएं। उन्होंने अपर जिलाधिकारी, वित्त व राजस्व को निर्देश दिए कि सूचना प्राप्त होने पर ग्रीष्म काल में पेयजल की आपूर्ति के दृष्टिगत दैवीय आपदा प्रबंधन अधिनियम में निहित प्रविधानो के अंतर्गत उपरोक्त समस्त टैंकरों का अधिग्रहण कर लिए जाए तथा जल संस्थान द्वारा टैंकरों को ईंधन की व्यवस्था कराकर पेयजल की आपूर्ति की जाए।

पेयजल संबंधित बैठक में जिलाधिकारी रविंद्र कुमार ने निर्देश दिए कि टैंकर के माध्यम से किसी स्थान पर किस दिन एवं किस समय जलापूर्ति की जा रही है, इसकी समीक्षा कैजाल एप के माध्यम से की जायेगी, जिसके संबंध में जलापूर्ति करने वालों कर्मचारियों को ट्रेनिंग दी जाएगी। उन्होंने कहा कि प्रशिक्षण लेने वाले अधिकारी व कर्मचारी उक्त प्रशिक्षण को संवेदनशील होकर आत्मसात करें ताकि पेयजल की आपूर्ति में किसी भी तरह की कोई गड़बड़ी ना हो सके।

बैठक की अध्यक्षता करते हुए जिलाधिकारी ने निर्देश दिए कि ग्रीष्म काल में जन सामान्य को जलापूर्ति करने के कार्य में किसी व्यक्ति द्वारा यदि लापरवाही बरती जाएगी, तो उसके विरुद्ध दैवीय आपदा प्रबंधन अधिनियम की सुसंगत धाराओं के अंतर्गत कार्यवाही की जायेगी। बैठक में अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व राम अक्षयवर चौहान, जिला विकास अधिकारी सुनील कुमार सहित जल निगम जल संस्थान सहित अन्य विभागीय अधिकारी उपस्थित रहे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.