गेहूॅ क्राप कटिंग के लिए कमोलिया पहुॅचे डीएम प्रधान प्रतिनिधि ने बुके भेंट कर डीएम का किया स्वागत

0 47

बहराइच : जिलाधिकारी डॉ. दिनेश चन्द्र ने विकास खण्ड चित्तौरा के ग्राम कमोलिया के किसान जीवन लाल पुत्र भगवानदीन के गाटा संख्या 234 पर पहुंचकर गेहूॅ की क्राप कटिंग करायी। कृषक जीवन लाल के खेत में 40.77 कुण्टल प्रति हेक्टेयर गेहूॅ की ऊपज प्राप्त हुई। जबकि पिछले वर्ष जनपद की औसत उपज 42 कुंतल प्रति हेक्टेयर थी। ग्राम कमोलिया पहुंचने पर प्रधान प्रतिनिधि माधवराम पाण्डेय ने जिलाधिकारी को बुके भेंट कर स्वागत किया।

क्राप कटिंग के दौरान जिलाधिकारी डॉ. चन्द्र ने जिला सांख्यिकीय अधिकारी नरेन्द्र कुमार गुप्ता को निर्देश दिया कि जनपद के सभी बीमित कृषकों को नियमानुसार प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का लाभ दिलाया जाना सुनिश्चित करें। इस अवसर पर जिलाधिकारी ने किसानों से फसल बीमा कराकर प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का लाभ प्राप्त करने का आहवान किया।

उन्होंने कृषकों को यह भी सुझाव दिया कि अपनी गेहॅ की उपज को नजदीकी क्रय केन्द्र पर बिक्री कर अपनी उपज का वाजिब मूल्य प्राप्त करें और शासन द्वारा संचालित न्यूनतम समर्थन मूल्य योजना का लाभ उठायें।जिला सांख्यिकीय अधिकारी श्री गुप्ता ने जिलाधिकारी को बताया कि प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अन्तर्गत जनपद में खरीफ 2021 में कुल 66704 कृषकों द्वारा फसल बीमा कराया है जिसमें गैर ऋणी किसानों की संख्या 11230 है।

जनपद में बीमित 66704 कृषकों के सापेक्ष 26514 कृषकों को 18 करोड़ 27 लाख 63 हजार रू. क्षतिपूर्ति के रूप में प्राप्त हुए। जबकि बीमा योजना के अन्तर्गत कृषकों द्वारा दिया गया प्रीमियम मात्र 04 करोड़ 86 लाख है। उन्होंने यह भी बताया कि तहसील मिहींपुरवा अन्तर्गत ग्राम मजरा के कृषक अमरिका प्रसाद को कुल 01 लाख 89 हजार रू व घुरहू को 01 लाख 40 हजार रूपये तथा तहसील नानपारा के ग्राम गिरगिट्टी के कास्तकार बैजनाथ गुप्ता को 01 लाख 45 हजार रूपये क्षतिपूर्ति के रूप में प्राप्त हुए।

इसके अलावा तहसील नानपारा के ग्राम बगहा के बीमित सभी 840 किसानों को प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अन्तर्गत 01 करोड़ 38 लाख 34 हजार रू. क्षतिपूर्ति के रूप में प्रदान किये गये हैं जो जनपद में किसी भी ग्राम पंचायत को फसल बीमा के अन्तर्गत सर्वाधिक मुआवजा की धनराशि है। रबी 2021-22 के अन्तर्गत फसल बीमा योजना में जनपद के 80283 कृषकों द्वारा फसल बीमा कराया था। जिसमें कृषकों का अंश 03 करोड़ 50 लाख रू है।

वर्तमान मौसम में क्राप कटिंग का शत-प्रतिशत कार्य भारत सरकार द्वारा विकसित किये गये सी.सी.ई. एग्री एैप के माध्यम से किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि राजस्व विभाग के क्षेत्रीय अधिकारियों एवं कर्मचारियों को सी.सी.ई. एग्री एैप डाउनलोड करके 396 स्मार्ट फोन का वितरण किया गया है। क्राप कटिंग के पश्चात राजस्व अधिकारियों एवं कर्मचारियों द्वारा डाटा लोड करते ही सम्बन्धित डाटा एैप के माध्यम से सीधे राजस्व परिषद को पहुॅच जाता है।

जिलाधिकारी डॉ. चन्द्र ने सी.सी.ई. एग्री एैप के माध्यम से जनपद में शत-प्रतिशत हो रहे क्राप कटिंग कार्य पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए कहा कि इससे लोगों में क्राप कटिंग के प्रति विश्वसनीयता बढ़ेगी तथा इस कार्य में पारदर्शिता भी आयेगी।इस अवसर पर उप जिलाधिकारी सदर सौरभ गंगवार आईएएस, न्यायिक सुभाष सिंह धामी, तहसीलदार सदर राज कुमार बैठा, बीमा कम्पनी एग्रीकल्चर इन्श्योरेन्स के प्रतिनिधि मुकेश कुमार, राजस्व कर्मी, ग्राम पंचायत अधिकारी व ग्रामवासी मौजूद रहे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.