शुल्‍क माफ,निःशुल्क बनेगा आयुष्मान कार्ड

0 106

24 मार्च तक चलेगा विशेष अभियान

कार्ड विहीन परिवारों तक पहुंचने की नई कोशिश

कन्नौज : आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत शामिल  पात्र  लाभार्थियों के गोल्डन कार्ड बनाने के लिए सरकार गंभीर है। इसके लिए बुधवार से विशेष अभियान शुरूआत सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र हसेरन के चिकित्साधीक्षक डा.जगदीश निर्मल ने  केन्द्र पर फीता काटकर की। इस दौरान डा.निर्मल उन्होंने कहा कि  लाभार्थियों को एक और राहत दी गई है। सरकार ने गोल्डन कार्ड बनवाने के  लिए ली जाने वाली 30 रुपये की शुल्क माफ कर दी है। पैनल में शामिल सरकारी व निजी अस्पताल, कामन सर्विंस सेटर व निजी एजेंसी के काउंटरों पर भी अब गोल्डन कार्ड मुफ्त बनाए जा रहें हैं।

उन्होंने कहा कि गठित टीम द्वारा निर्धारित तिथि एवं स्थल पर आयुष्मान कार्ड बनाने के लिए टीम की उपस्थिति रहेगी। जन सेवा केंद्रों (कॉमन सर्विस सेंटर) पर आयुष्मान कार्ड बनाने के अब रुपये नहीं लगेंगे। जनपद में बचे हुए आयुष्मान कार्ड विहीन परिवारों को लक्षित करते हुए आयुष्मान पखवाड़ा आयोजित कर हुए सघन अभियान चलाया जा रहा हैं। उन्होंने बताया कि सरकार का मानना है कि 30 रुपये शुल्क के चलते काफी लाभार्थी गोल्डन कार्ड बनवाने नहीं पहुंचते। अब यह शुल्क खत्म कर दी गई है। लाभार्थी कहीं भी गोल्डन कार्ड बनवाएं, कोई शुल्क नहीं लगेगा। सरकार ने एक निजी संस्था यूटीआई को भी अलग से जिम्मा सौंपा है। यह संस्था भी सरकारी अस्पतालों व अन्य स्थानों पर अपने काउंटर लगा रही है। ऐसे में जल्द ही इसके नतीजे सामने आने लगेंगे।

जिला प्रोग्राम क्वार्डिनेटर डा. सतेन्द्र कुमार  बताते हैं कि 25 सितंबर 2018 से शुरू हुई आयुष्मान भारत-प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के तहत गरीब परिवारों को साल में पांच लाख रुपये तक के मुफ्त इलाज का प्राविधान है। साथ ही इस अभियान के चलने को सफल बनाने के लिए सीएचसी के चिकित्सा अधीक्षक व पीएचसी प्रभारी चिकित्सा अधिकारियों समेत अन्य को निर्देश दिए जा चुके हैं। इस योजना के तहत 1450 हेल्थ पैकेज हैं। जनपद में अब तक 1,540गोल्डन कार्ड बनायें जा चुके हैं। उन्होंने कहा कि पात्र गोल्डेन कार्ड धारकों को हर साल पांच लाख तक का मुफ्त इलाज देने वाली प्रधानमंत्री जन आरोग्य आयुष्मान भारत को जिले में तेज किया जाएगा।

Leave A Reply

Your email address will not be published.