पूर्व स्वास्थ्य आयुक्त भारतीय-अमेरिकी डॉ राहुल गुप्ता को राष्ट्रीय औषधि नियंत्रण नीति कार्यालय का अगला निदेशक चुना

0 109

अमेरिकी : राष्ट्रपति जो बाइडन ने वेस्ट वर्जीनिया के पूर्व स्वास्थ्य आयुक्त भारतीय-अमेरिकी डॉ राहुल गुप्ता को राष्ट्रीय औषधि नियंत्रण नीति कार्यालय का अगला निदेशक चुना है। यह जानकारी मंगलवार को मीडिया की एक खबर से मिली। वाशिंगटन पोस्ट ने नाम गुप्त रखने की शर्त पर जानकारी देने वाले व्हाइट हाउस के दो अधिकारियों के हवाले से बताया कि डॉ गुप्ता को नेशनल ड्रग कंट्रोल पॉलिसी कार्यालय के अगले निदेशक के रूप में नामित किया जाएगा। यदि सीनेट द्वारा अनुमोदन कर दिया गया तो डॉ गुप्ता इस पद पर कार्य करने वाले पहले चिकित्सक होंगे।

गुप्ता बाइडन प्रशासन में भारतीय-अमेरिकियों के बढ़ते हुए कुनबे में शामिल होंगे, जिसकी शुरुआत उपराष्ट्रपति कमला हैरिस से होती है और इसमें सर्जन जनरल के रूप में शीर्ष स्वास्थ्य अधिकारी विवेक मूर्ति शामिल होते हैं।  साथ ही कार्मिक कार्यालय की निदेशक किरण आहूजा, बाइडन के भाषण लेखकों की टीम के प्रमुख विनय रेड्डी, न्याय विभाग में एसोसिएट अटॉर्नी जनरल के रूप में वनिता गुप्ता और नीरा टंडन जो राष्ट्रपति की वरिष्ठ सलाहकार ये लोग भी अमेरिकी सरकार में अपनी भूमिका निभा रहे हैं।

राजनीतिक रूप से गुप्ता की भागीदारी की बात करें तो ये वेस्ट वर्जीनिया के डेमोक्रेटिक सीनेटर जो मैनचिन के सहयोगी हैं, जो राष्ट्रपति के विधायी एजेंडे को पारित करने या धारण करने के लिए एक प्रमुख अमेरिकी कांग्रेस के रूप में उभरे हैं।  राष्ट्रीय औषधि नियंत्रण नीति कार्यालय की स्थापना 1982 में मादक द्रव्यों के सेवन संबंधी विकारों से निपटने के लिए राष्ट्रीय नीति बनाने और समन्वय करने के लिए की गई थी, जिसमें ओपिओइड संकट की प्रतिक्रिया भी शामिल है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.