पूर्व विधायक हाजी इकराम कुरैशी ने आजम खां को कांग्रेस में आने का दिया न्‍यौता

0 31

पूर्व विधायक हाजी इकराम कुरैशी ने कहा कि सपा ने मुहम्मद आजम खां और उनके परिवार के लिए कुछ नहीं किया। कांग्रेस में ही उन्हें सम्मान मिल सकता है। इसलिए मैं उन्हें कांग्रेस में आने का न्‍यौता देता हूं। शुक्रवार को मीडिया को जारी बयान में पूर्व विधायक ने कहा है कि रामपुर के विधायक मुहम्मद आजम खां मुस्लिमों के बड़े नेता हैं। यूपी में उन्होंने ही समाजवादी पार्टी को सींचकर बड़ा किया। योगी आदित्यनाथ सरकार उन पर जुल्म कर रही है।

झूठे मुकदमे लिखाकर जेल में डाल दिया गया। भैंस, बकरी और किताबें चोरी करने के आरोप लगाकर उनके खिलाफ मुकदमे दर्ज हुए। वह अभी तक जेल में है। जिस नेता ने सपा की बुनियाद रखने में अहम भूमिका निभाई उसके लिए समाजवादी पार्टी ने कुछ नहीं किया।आजम खां को कांग्रेस में शामिल होने का न्‍यौता, पूर्व विधायक इकराम कुरैशी बोले- सपा ने उनके लिए कुछ नहीं किया इकराम कुरैशी समाजवादी पार्टी से ही विधायक रह चुके हैं

पूर्व विधायक ने कहा कि मैं भी समाजवादी पार्टी से विधायक रहते प्रोटोकाल में बंधा रहा। बहुत कुछ कहने की इच्छा रहती थी। लेकिन पार्टी की बंदिशों के आगे कुछ नहीं कह पाया। हालांकि सीतापुर जेल में कई बार उनसे मुलाकात की।मुरादाबाद, जागरण संवाददाता। पूर्व विधायक हाजी इकराम कुरैशी ने कहा कि सपा ने मुहम्मद आजम खां और उनके परिवार के लिए कुछ नहीं किया। कांग्रेस में ही उन्हें सम्मान मिल सकता है। इसलिए मैं उन्हें कांग्रेस में आने का न्‍यौता देता हूं।शुक्रवार को मीडिया को जारी बयान में पूर्व विधायक ने कहा है कि रामपुर के विधायक मुहम्मद आजम खां मुस्लिमों के बड़े नेता हैं।

यूपी में उन्होंने ही समाजवादी पार्टी को सींचकर बड़ा किया। योगी आदित्यनाथ सरकार उन पर जुल्म कर रही है। झूठे मुकदमे लिखाकर जेल में डाल दिया गया। भैंस, बकरी और किताबें चोरी करने के आरोप लगाकर उनके खिलाफ मुकदमे दर्ज हुए। वह अभी तक जेल में है। जिस नेता ने सपा की बुनियाद रखने में अहम भूमिका निभाई उसके लिए समाजवादी पार्टी ने कुछ नहीं किया।
पूर्व विधायक ने कहा कि मैं भी समाजवादी पार्टी से विधायक रहते प्रोटोकाल में बंधा रहा। बहुत कुछ कहने की इच्छा रहती थी। लेकिन, पार्टी की बंदिशों के आगे कुछ नहीं कह पाया।

हालांकि सीतापुर जेल में कई बार उनसे मुलाकात की। मेरा टिकट भी नागफनी से मुस्लिम समाज के 14 लोगों को छुड़ा लाने की वजह से ही काट दिया गया। विधायक रहते हम बेगुनाह लोगों की मदद नहीं कर पाएं तो किस काम की नेतागीरि है। उन्होंने कहा कि आजम खां के मीडिया प्रभारी फसाहत अली शानू ने बिल्कुल सच कहा है। मैं उनका समर्थन करता हूं। आम आदमी की समस्याओं को लेकर लड़ाई कैसे लड़ी जाएगी, जब इतने बड़े नेता को ही समाजवादी पार्टी ने अकेला छोड़ दिया। बता दें कि हाजी इकराम कुरैशी मुरादाबाद देहात से विधायक रहे हैं। टिकट काटे जाने के बाद उन्होंने बगावत करके कांग्रेस से विधानसभा चुनाव लड़ा था।

Leave A Reply

Your email address will not be published.