संजीत अपहरण और हत्या के मामले में पुलिस आरोपियों के खिलाफ गैंगस्टर एक्ट के तहत जब्त करेगी सम्पत्ति    

0 106

कानपुर :  बर्रा थानाक्षेत्र में हुए संजीत अपहरण और हत्या के मामले में पुलिस ने गैंगस्टर एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया है। जिसके तहत आरोपितों की संपत्ति जब्तीकरण के साथ बैंक खाते भी सीज किए जाने हैं। आठ दिन बीतने के बाद भी बैंक से खातों के बारे में जानकारी नहीं मिल पाई है। पुलिस को कार्रवाई के लिए बैंक रिपोर्ट का इंतजार है।

बर्रा पांच निवासी लैब टेक्नीशियन संजीत यादव के अपहरण और हत्या के मामले में पुलिस आठ आरोपितों की गिरफ्तारी कर चुकी है। आरोपितों से पूछताछ में रामजी के करीबी साथी नौबस्ता निवासी रामाशीष का नाम भी सामने आया था, हालांकि पुलिस अब तक रामाशीष की गिरफ्तारी नहीं कर पाई है। कुछ दिन पहले बर्रा पुलिस ने गिरोह के सरगना रामजी शुक्ल,सरायमीता कच्ची बस्ती पनकी निवासी कुलदीप गोस्वामी,गज्जापुरवा निवासी नीलू सिंह,दबौली वेस्ट निवासी ईशू उर्फ ज्ञानेंद्र,गुमटी नंबर पांच निवासी प्रीति शर्मा,सिम्मी सिंह उर्फ जयकरन व फत्तेपुर रोशनाई अकबरपुर कानपुर देहात निवासी चीता उर्फ राजेश उर्फ टाइगर के खिलाफ गैंगस्टर की कार्रवाई की थी।

नौबस्ता पुलिस संपत्ति जब्तीकरण की की कार्रवाई कर रही है। इसके लिए सभी सात आरोपितों के बैंक खातों को सीज किया जाना है। पुलिस ने सभी आरोपितों के नाम और पते सभी बैंकों में आरोपितों के बैंक खातों का ब्योरा 21 फरवरी को भेजा था। थाना प्रभारी बर्रा हरमीत सिंह ने बताया कि अभी बैंक की तरफ से खातों के बारे में कोई जानकारी नहीं दी गई है। बैंक की रिपोर्ट आने के बाद खातों को सीज कराने के कार्रवाई की जाएगी।

Leave A Reply

Your email address will not be published.