लगातार हो रही बारिश से जनजीवन हुआ प्रभावित

मौसम हुआ सर्द,स्कूल कॉलिज रहे खाली, सड़कों पर पसरा सन्नाटा

0 5
&https://www.youtube.com/channel/UCcj8JxdUrXPVdAxW-blFheA8211; बची खुची खरीफ फसलें हुईं नष्ट
&https://www.youtube.com/channel/UCcj8JxdUrXPVdAxW-blFheA8211; कच्चे घरों को पहुंचा नुकसान,कई स्थानों पर सम्पर्क मार्गों पर गिरे पेड़,आवागमन ठप्प
उरई (जालौन): गत सप्ताह हुई तेज मूसलाधार बारिश के बाद मौसम में कुछ सुधार होने के बाद एक बार फिर से लगातार कई घंटे लगातार तेज बारिश होने से नगर सहित ग्रामीण क्षेत्र में एकाएक मौसम में काफी ठंडक हो गई।मंगलवार और बुधवार को बारिश से हुई ठंडक के कारण घरों में चलने वाले कूलर एसी भी बंद हो गये। लगातार तेज बारिश के बीच बच्चों के तमाम पब्लिक स्कूल बंद रहे और इंटर कॉलिजों समेत अन्य जो स्कूल कॉलिज खुले हुए थे उनमें विद्यार्थियों की संख्या नगण्य रही।बारिश से क्षेत्र में तमाम कच्चे घरों को नुकसान पहुंचा है और सम्पर्क मार्गों पर भी आवागमन में लोगों को परेशानी का सामना करते हुए देखा गया।रास्तों में पेड़ भी धराशायी होकर आम रास्तों में गिरे हुए देखे गए।कोंच से तीतरा मार्ग पर ग्राम लौना के समीप मुख्य सड़क पर भारी भरकम पेड़ टूटकर गिरने से आवागमन पूरी तरह ठप्प हो गया है।उधर, खंड विकास कार्यालय और वन विभाग कार्यालय में घुटनों तक पानी भर गया।पानी को वाटर पम्प के सहारे निकाला जा रहा है। वहीं लगातार तेज बारिश होने से खरीफ फसलों के तहत तिली, मूंग, उड़द, सोयाबीन, मूंगफली जैसी फसलों को खेतों में पानी अधिक भर जाने से काफी नुकसान पहुंचा है और उक्त सारी फसलें करीब करीब नष्ट हो गईं हैं जिसको देखते हुए किसानों के चेहरों पर चिंता की लकीरें साफ तौर पर देखी जा सकती हैं।बारिश के बीच नगर सहित ग्रामीण क्षेत्र में बिजली संकट ग्रामीणों की समस्या परेशानी को और बढ़ा रहा है।उधर, एकाएक ठंडक हो जाने से छोटे बच्चों, बुजुर्गों और बीमार चल रहे लोगों में खांसी, जुखाम, उल्टी, दस्त का भी खतरा बारिश में बढ़ गया है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.