प्रवासी कामगारों तथा श्रमिकों के लिए सामाजिक सुरक्षा की व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश, 

0 101

इन्हें आयुष्मान भारत योजना तथा मुख्यमंत्री जन आरोग्य अभियान के माध्यम से लाभान्वित किया जाए

 

0प्र0 कामगार और श्रमिक (सेवायोजन एवं रोजगार) आयोगकी संस्तुतियों एवं निर्णयों 

के क्रियान्वयन की जनपद तथा मण्डल स्तर पर नियमित रूप से साप्ताहिक एवं पाक्षिक समीक्षा की जाए

 

कामगारों एवं श्रमिकों के लिए विभिन्न क्षेत्रों में अधिक से अधिक रोजगार के अवसर 

सृजित करते हुए उन्हें योग्यता व क्षमता के अनुरूप कार्य उपलब्ध कराया जाए

 

एम0एस0एम00 सेक्टर सहित एक जनपद, एक उत्पादयोजना, ‘विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजनाके माध्यम से कामगारों/श्रमिकों को व्यापक पैमाने पर रोजगार प्रदान किया जा रहा, इस कार्य को और गति प्रदान करने के निर्देश 

 

लखनऊ: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ  ने कहा कि राज्य सरकार कामगारों तथा श्रमिकों के हितों के प्रति पूरी तरह संवेदनशील है। उन्होंने प्रवासी कामगारों तथा श्रमिकों के लिए सामाजिक सुरक्षा की व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश देते हुए कहा कि इन्हें आयुष्मान भारत योजना तथा मुख्यमंत्री जन आरोग्य अभियान के माध्यम से लाभान्वित किया जाए।

 

मुख्यमंत्री  आज यहां अपने सरकारी आवास पर आहूत एक उच्चस्तरीय बैठक में श्रमिकों एवं कामगारों के हितार्थ की जा रही कार्यवाही की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि कामगारों और श्रमिकों की सामाजिक एवं आर्थिक सुरक्षा तथा उनके सर्वांगीण विकास के उद्देश्य से राज्य सरकार द्वारा ‘उत्तर प्रदेश कामगार और श्रमिक (सेवायोजन एवं रोजगार) आयोग’ गठित किया गया है। उन्होंने आयोग की संस्तुतियों एवं निर्णयों के क्रियान्वयन की जनपद तथा मण्डल स्तर पर नियमित रूप से साप्ताहिक एवं पाक्षिक समीक्षा करने के निर्देश दिए।

 

 

मुख्यमंत्री  ने कहा कि कामगारों एवं श्रमिकों के लिए विभिन्न क्षेत्रों में अधिक से अधिक रोजगार के अवसर सृजित करते हुए उन्हें योग्यता व क्षमता के अनुरूप कार्य उपलब्ध कराया जाए। रोजगार उपलब्ध कराने में एम0एस0एम0ई0 सेक्टर सहित ‘एक जनपद, एक उत्पाद’ योजना, ‘विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना’ जैसी योजनाओं की महत्वपूर्ण भूमिका है। इस सेक्टर व योजनाओं के माध्यम से कामगारों/श्रमिकों को व्यापक पैमाने पर रोजगार प्रदान किया जा रहा है। उन्होंने इस कार्य को और गति प्रदान किए जाने के निर्देश दिए।

 

बैठक में चिकित्सा शिक्षा मंत्री  सुरेश खन्ना, मुख्य सचिव  आर0के0 तिवारी, अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास आयुक्त  आलोक टण्डन, कृषि उत्पादन आयुक्त  आलोक सिन्हा, अपर मुख्य सचिव गृह  अवनीश कुमार अवस्थी, पुलिस महानिदेशक  हितेश सी0 अवस्थी, अपर मुख्य सचिव एम0एस0एम0ई0 एवं सूचना  नवनीत सहगल, अपर मुख्य सचिव वित्त  संजीव मित्तल, अपर मुख्य सचिव मुख्यमंत्री  एस0पी0 गोयल, अपर मुख्य सचिव चिकित्सा शिक्षा डाॅ0 रजनीश दुबे, अपर मुख्य सचिव पंचायतीराज एवं ग्राम्य विकास  मनोज कुमार सिंह, अपर मुख्य सचिव औद्योगिक विकास  आलोक कुमार, अपर मुख्य सचिव कृषि  देवेश चतुर्वेदी, प्रमुख सचिव स्वास्थ्य  आलोक कुमार, प्रमुख सचिव पशुपालन  भुवनेश कुमार, सचिव मुख्यमंत्री  आलोक कुमार, राहत आयुक्त  संजय गोयल सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.