दुश्वारियां भरा है उप निबंधक कार्यालय मिल्कीपुर तक पहुंच पाना

तहसील के आवासीय भवन की टूटी नालियां एवं बजबजा रहे शौचालय टैंक

0 11

मिल्कीपुर-अयोध्या। मिल्कीपुर तहसील मुख्यालय स्थित उप निबंधक कार्यालय पहुंच पाना दुश्वारियों भरा हो गया है। तहसील स्थापना के बाद से तहसील भवन के पीछे सिंचाई विभाग के भवन में चल रहे रजिस्ट्री कार्यालय को जाने वाले मार्ग पर जलभराव एवं कीचड़ हो जाने के चलते वादकारियों को कार्यालय तक पहुंचने में गंदे पानी और कीचड़ से गुजरना पड़ रहा है। सबसे मजे की बात तो यह है कि तहसील के प्रशासनिक अधिकारियों की नाक के नीचे मुख्य मार्ग पर जलभराव प्रशासनिक अधिकारियों की लापरवाही एवं नजरअंदाजी को उजागर कर रहा है। बताते चलें कि वर्ष 1995 में मिल्कीपुर तहसील मुख्यालय की स्थापना के बाद से तहसील भवन के बगल स्थित सिंचाई विभाग के भवन में उप निबंधक कार्यालय मिल्कीपुर अस्थाई व्यवस्था के तहत संचालित हो रहा है। रजिस्ट्री कार्यालय तक पहुंचने के लिए तहसील प्रवेश द्वार के बगल से एक पक्की सड़क जाती है उसी सड़क के बगल तहसील के अधिकारियों कर्मचारियों के आवासीय भवन बने हुए हैं। आलम यह है कि आवासीय भवनों के शौचालय टैंक ओवरफ्लो करके सड़क पर ही बह रहे हैं। यही नहीं आवासीय भवनों से जल निकासी हेतु लगी पाइपलाइन पूरी तरह से टूट कर ध्वस्त हो चुकी है जिसका परिणाम है कि आवासीय भवनों एवं शौचालय टैंकों का गंदा पानी सड़क पर बैठ बजा कर भरा हुआ है। उक्त सड़क से होकर कार्यालय तक पहुंच पाना पैदल की तो बात दूर बाइक और संसाधन से भी कतई संभव नहीं हो पा रहा है। उप निबंधक कार्यालय में काम कर रहे स्टांप विक्रेता और दस्तावेज लेखक सहित तहसील क्षेत्र के वादकारी भी उक्त समस्या से बिल्कुल हरा नियम परेशान हैं। उक्त संबंध में तहसील के नायब नाजिर शिव प्रकाश सिंह से वार्ता की, तब उन्होंने बताया कि आवासीय भवन के परिसर में ही राजकीय नलकूप स्थित है। जिसकी नाली कई जगह टूट गई है। आवासीय भवनों की पाइप लाइन एवं शौचालय टैंक के पानी के साथ साथ नलकूप का भी पानी सड़क पर एकत्र हो रहा है। उक्त समस्या के निदान हेतु शासन से पैसा मिल चुका है, जल्द ही लोगों को समस्या से निजात दिला दी जाएगी।

Leave A Reply

Your email address will not be published.