जन शिक्षण संस्थान ने सन्दर्भ व्यक्तियों का कराया कार्य क्षमता संवर्धन प्रशिक्षण

0 37

लखनऊ : सरोजनीनगर कौशल विकास एवं उद्यमशीलता मंत्रालय भारत सरकार के अधीन संचालित जन शिक्षण संस्थान (साक्षरता निकेतन) एवं जन शिक्षण संस्थान गोमती नगर लखनऊ के संयुक्त तत्वाधान में एक दिवसीय कार्य क्षमता संवर्धन प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन साक्षरता निकेतन परिसर में किया गया। कार्यशाला का शुभारम्भ संस्थान के निदेशक सौरभ कुमार खरे ने किया।

कार्यशाला में उपस्थित प्रवीन टण्डन सलाहकार इण्डिया लिटरेसी बोर्ड ने महिलाओं में स्वावलम्बन एवं आत्मनिर्भर बनने की विधियों पर चर्चा करते हुए लघु उद्योग को संचालित करने की विधिवत जानकारी प्रदान की। श्रीमती रितु भटनागर राज्य समन्वयक महिला कल्याण एवं बाल विकास विभाग उ0प्र0 ने महिलाओं को मिशन शक्ति महिला अपराधों की रोकथाम आदि विषयों पर व्यापक जानकारी देते हुए इससे सम्बन्धित सरकार द्वारा प्रदत्त सुविधाओं एवं कानूनों का प्रशिक्षण दिया।

तौसीफ मलिक जिला मिशन मैनेजर उ0प्र0 राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन ने सन्दर्भ व्यक्तियों को स्वयं सहायता समूह के गठन व होने वाले लाभ रिवालविंग फण्ड सी0आई0एफ फण्ड एवं बैंक से ऋण व्यवस्था आदि विषयों की जानकारी प्रदान की।

राष्ट्रीय कौशल विकास निगम के नोडल आफिसर प्रशान्त कुमार कटियार ने भारत सरकार एव राज्य सरकार द्वारा संचालित कौशल विकास की योजनाओं स्किल हब तथा प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना के बारे में विस्तृत जानकारी प्रदान करते हुए बताया कि कौशल ही एक ऐसा माध्यम है जिससे हम रोजगार व स्वरोजगार की दिशा की ओर अग्रसर हो सकते है।

आज के समय में युवाओं को अपने अन्दर हुनर को पहचान कर निखारने की आवशकता है। प्रशिक्षकों के लिए यह जरुरी नहीं किया छप्पर में पढ़ा रहे है या ए0सी0 में जरुरी यह है कि उनके पढ़ायें हुए लाभार्थी कितने सफल हो रहे है। कार्यक्रम में सन्दर्भ व्यक्तियों को प्रमाण पत्र वितरण किया गया। कार्यक्रम का संचालन संस्थान के कार्यक्रम अधिकारी अवधेष कुमार एवं पन्नालाल ने किया।

धन्यवाद ज्ञापन करते हुए समापन सत्र के मुख्य अतिथि के रुप में जन शिक्षण संस्थान गोमती नगर के निदेशक श्री अनिल कुमार श्रीवास्तव प्रमाण पत्र वितरित कराये। कार्यक्रम में आई0पी0गुप्ता लेखाकार कम प्रबन्धक शुभम मिश्रा सहा0कार्यक्रम अधिकारी सुश्री पूनम सोनी श्रीमती नीतू यादव सुश्री सुरभी कुमारी आदि ने विशेष दायित्वों का निर्वहन किया।

Leave A Reply

Your email address will not be published.