जयंत चौधरी बोले : सरकार बनी तो बदलेंगे जेवर एयरपोर्ट का नाम

0 46

लखनऊ : उत्तर प्रदेश में अगर समाजवादी पार्टी और राष्ट्रीय लोकदल गठबंधन की सरकार बनती है तो वह भी योगी आदित्यनाथ सरकार के रास्ते पर चल सकती है। राष्ट्रीय लोकदल के अध्यक्ष जयंत चौधरी ने शनिवार को गौतमबुद्ध नगर की जेवर विधानसभा सीट के चौरोली गांव में जनसभा को संबोधित किया। उन्होंने गुर्जर सम्राट मिहिर भोज को याद करते हुए कहा कि जेवर एयरपोर्ट का नाम बदलकर उनके नाम पर रखा जाएगा। इसके साथ ही उनकी एक विशाल प्रतिमा बनाई जाएगी।

जयंत चौधरी ने प्रदेश सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि भाजपा की नीतियों ने किसानों, गरीबों और मजदूरों को बर्बाद कर दिया। प्रदेश में चारों ओर भ्रष्टाचार है। उन्होंने यूपी में सपा-रालोद गठबंधन की सरकार बनने पर सभी युवाओं को सरकारी नौकरी दिलाने का वादा किया। जयंत ने कोरोना काल का जिक्र करते हुए कहा कि सरकार की नाकामी के वजह से लोगों की जान गई। कोरोना के समय में व्यवस्था पूरी तरह फेल साबित हुई। लोगों को अस्पताल में भर्ती होने के लिए अधिकारियों से अनुमति लेनी पड़ी। इससे काफी परेशानी हुई।

रालोद अध्यक्ष ने चौरोली में किसानों का अभिवादन किया और गठबंधन प्रत्याशी अवतार सिंह भड़ाना के समर्थन में वोट मांगे। चौरोली पहुंचने पर रालोद समर्थकों और किसानों ने रालोद प्रमुख जयंत चौधरी का जोरदार स्वागत किया। उन्होंने जयंत चौधरी को माला और पगड़ी पहनाई।

दो लड़कों की गर्मी देख सर्दी में बाबा के पसीने छूट रहे

जयंत चौधरी ने इससे पहले मथुरा में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के 11 मार्च के बाद गर्मी निकाल देने वाले बयान पर पलटवार करते हुए कहा कि हमारा खून गरम है, गरम ही रहेगा। दो लड़कों की गर्मी देख सर्दी में बाबा का पसीना छूट रहा है। रालोद नेता ने कहा कि हम किसानों और युवा समाज के हर वर्ग की लड़ाई लड़ने का काम कर रहे हैं। जयंत शनिवार को मथुरा के गोवर्धन विधानसभा क्षेत्र में रालोद प्रत्याशी चौधरी प्रीतम सिंह के पक्ष में आयोजित जनसभा को संबोधित कर रहे थे।

उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने किसानों के आंदोलन के आगे विवश होकर झुकने के साथ तीनों कृषि कानूनों को वापस ले लिया, लेकिन किसानों की सभी बातें नहीं मानी गईं। सरकार द्वारा किया गया, कोई भी वादा अब तक पूरा नहीं हो सका है। जयंत ने कहा कि गन्ना किसानों को अपनी फसलों का भाव नहीं मिल रहा है। सरसों, आलू के किसानों को भी अपनी फसलों के भाव नहीं मिल रहे हैं। सरकार किसानों की सरसों की फसल पर ध्यान न देकर पॉमऑयल पर ध्यान दे रही है।

उन्होंने कहा कि मैं बाबा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को गुण्डा दिखता हूं। मैं उन्हें याद दिलाना चाहता हूं कि सन 1970 में मेरे स्वर्गीय दादा चौधरी चरण सिंह के मुख्यमंत्रित्व काल में उत्तर प्रदेश में गुण्डा एक्ट बनाया गया था। जयंत ने पूछा कि बाबाजी, आपने आज तक कोई कानून बनाया है, तो बताओ। उन्होंने सभा में उपस्थित जनता से आह्वान किया कि दस फरवरी को हैण्डपंप पर इतने बटन दबाओ कि प्रीतम सिंह जीतकर लखनऊ पहुंचे और बाबा को गरमी का एहसास हो जाए।

 

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.