आईआईटी और एनएसआई में फिर पहुंचा तेंदुआ,गर्ल्स हॉस्टल के कैमरे में हुआ कैद

दहशत का माहौल, सुरक्षा की दृष्टि से फिर से कॉम्बिंग शुरू

0 20

कानपुर । गुरुवार की रात में तेंदुआ ने एक बार फिर आईआईटी में दस्तक दी है। कैंपस में लगे सीसीटीवी कैमरे में उसकी चहलकदमी को रिकॉर्ड किया गया है। तेंदुए के दोबारा लौटने की खबर से कैंपस में दहशत का माहौल बना हुआ है। राष्ट्रीय शर्करा संस्थान में गर्ल्स हॉस्टल पर लगे कैमरे में वह कैद भी हुआ।आखिरी बार तेंदुआ 15 नवंबर को ऑर्डिनेंस फैक्ट्री में देखा गया था। करीब 1 महीने से कानपुर में तेंदुआ दहशत का पर्याय बना हुआ है।
डीएफओ श्रद्धा यादव ने शुक्रवार को बताया कि आईआईटी के स्टाफ ने तेंदुए की पुष्टि की है। सुरक्षा की दृष्टि से फिर से कॉम्बिंग शुरू की जा रही है। अभी नेशनल शुगर इंस्टीट्यूट में एक पिंजड़ा लगा हुआ है। दोबारा से आईआईटी में पिंजड़े लगाए जाएंगे।
डीएफओ ने बताया कि ये वही तेंदुआ है या कोई दूसरा तेंदुआ है, इसके पैटर्न को देखा जाएगा। इसके बाद ही पुष्टि की जाएगी। आईआईटी प्रशासन ने भी हॉस्टल के आसपास अलर्ट किया है। छात्रों और स्टाफ को अकेले निकलने पर रोक लगा दी है। वहीं आईआईटी में तेंदुआ देखे जाने के बाद एनएसआई कैंपस में अलर्ट किया गया है।
15 दिन पहले वह नहर के रास्ते होते हुए अरमापुर एस्टेट के जंगलों में जा पहुंचा जहां से वह व्यक्ति और स्माल आर्म्स फैक्ट्री के जंगल में लगातार आता जाता रहा। अरमापुर एस्टेट के जंगल में होने के कारण वन विभाग की टीम ने वहां भी पिंजरे, इंफ्रारेड कैमरे व जाल लगाकर पकड़ने की कोशिश की। यहां भी टीम की कवायद फैल रही।
पिछले 8 दिन से तेंदुआ नजर नहीं आया था लेकिन गुरुवार रात करीब 10:00 बजे सुरक्षाकर्मियों ने आईआईटी में उसे आते देखा इसके बाद शुक्रवार भोर पहर 3:45 बजे तेंदुआ जीटी रोड पार करके राष्ट्रीय शर्करा संस्थान में अपनी उसी लोकेशन पर जा पहुंचा। एनएसआई के सुरक्षा अधिकारी डॉ सुधांशु मोहन ने बताया कि वन विभाग की टीम में फिर से जलवा पिंजरे लगाए हैं और तेंदुए को पकड़ने की कोशिश की जा रही है संस्थान में अलर्ट कर दिया गया है । छात्र छात्राओं को झुंड में निकलने और सूरज ढलने के बाद जंगल की ओर ना जाने की सलाह दी गई है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.