Lucknow Breaking News

0 92

सीएम योगी संबोधन अपडेट 

लखनऊ : सीएम योगी संबोधन अपडेट यूपी में शांतिपूर्ण तरीक़े से पंचायत के चुनाव कराए गए। जनता बीजेपी के लिए मुखर होकर बोल रही थी। कई राजनैतिक दल बड़े बड़े दावे करते रहे लेकिन उनकी पार्टी के बड़े नेता कोरोनाकाल में ख़ुद को घर में बन्द कर जनता को उनके हाल पर छोड़ दिया। पीएम मोदी के नेतृत्व में हमने कोरोना पर नियंत्रण करने का काम किया। ग़रीबों की चिंता करने वाले पीएम मोदी ने ग़रीब कल्याण पैकेज दिया, अन्न योजना चलाई, धनराशि भेजी गई और मुफ़्त में उज्ज्वला योजना के सिलेंडर बांटे गए। हमने लोगों की संकट में मदद की और जो संकट में मदद करे वही सच्चा साथी है। 1947 से बहुत सी महामारी आयी लेकिन मोदी  के नेतृत्व में कोरोना की वैक्सीन 9 महीने में तैयार करके मुफ़्त में लोगों को दी जा रही है। सेवा ही संगठन के लक्ष्य के तहत अकेले बीजेपी कार्यकर्ता संगठन के बैनर तले काम कर रहे थे।

प्रवास के लिए लखनऊ पहुंचे भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा

लखनऊ : भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा 7 और 8 अगस्त को यूपी प्रवास के दौरान अवध से ब्रज तक चुनावी मंथन करेंगे। 7 अगस्त को लखनऊ में सरकार व संगठन को चुनावी एजेंडा सौंपने के बाद 8 अगस्त को आगरा में चुनावी बिगुल बजाएंगे।भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा लखनऊ पहुंच गए हैं। एयरपोर्ट पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ व भाजपा के वरिष्ठ पदाधिकारियों ने उनका स्वागत किया। इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में वह नवनिर्वाचित जिला पंचायत और क्षेत्र पंचायत अध्यक्षों के सम्मेलन को संबोधित करेंगे। इसके बाद, विधानसभा क्षेत्रों के प्रभारियों के सम्मेलन में उन्हें चुनाव में बूथ प्रबंधन से लेकर प्रचार प्रबंधन तक के गुर सिखाएंगे। दोपहर 3 बजे से प्रदेश भाजपा मुख्यालय में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह की मौजूदगी में कोर कमेटी की बैठक लेंगे।

प्रदेश सरकार के मंत्रियों और भाजपा के प्रदेश पदाधिकारियों की बैठक भी लेंगे। इसके बाद 8 अगस्त को नड्डा आगरा में ब्रज क्षेत्र के क्षेत्रीय पदाधिकारियों, जिलाध्यक्षों की चुनावी बैठक लेंगे। उनका ब्रज क्षेत्र के भाजपा विधायकों से भी बातचीत का कार्यक्रम है। नड्डा आगरा में कोरोना वारियर्स सम्मलेन में भी शामिल होंगे।  लखनऊ में होने वाले कार्यक्रमों के लिए प्रदेश महामंत्री अमरपाल मौर्य, गोविंद नारायण शुक्ला और जेपीएस राठौर को जिम्मेदारी सौंपी गई है। पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता हीरो बाजपेयी ने बताया कि नड्डा के लखनऊ पहुंचने पर एयरपोर्ट से कार्यक्रम स्थल तक कई जगहों पर उनका स्वागत किया जाएगा।

मुख्तार के गुर्गे ने बैंक के 107 करोड़ रुपये हड़पे

लखनऊ : बाहुबली विधायक व बांदा जेल में बंद मुख्तार अंसारी के करीबी शकील हैदर का नया मामला सामने आया है। उसने कुछ साल पहले यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया से दो कंपनियों के नाम से 107 करोड़ रुपये का लोन कराया था। यह रकम खाते में आने के बाद खर्च कर दी और लोन की किस्त भी नहीं दी। बैंक के अधिकारियों ने रिकवरी के लिए दौड़ लगाई तो शकील धमकाने लगा। बैंक ने मामले की जांच कराई तो कई खुलासे हुए। इसके बाद मामले की जांच सुरक्षा एजेंसियों को दे दी गई। वहीं, शकील के खिलाफ चार दिन में करोड़ों रुपये की जमीनों का फर्जीवाड़ा करने का मुकदमा भी वजीरगंज थाने में दर्ज हुआ है। आरोपी की तलाश में पुलिस कई जगह दबिश दे रही है।

पुराने लखनऊ के शीशमहल में रहने वाला शकील हैदर लखनऊ में मुख्तार अंसारी का सबसे करीबी गुर्गा है। उसने अमीनाबाद के यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया की शाखा से लोन कराया। यह लोन हिंद कंस्ट्रक्शन प्रोडक्ट प्रा. लि. और हिंद बिल्डटेक कंपनी के नाम कराया गया बैंक के अधिकारी के मुताबिक, हिंद कंस्ट्रक्शन प्रोडक्ट प्रा. लि. के नाम से 65 करोड़ का लोन कराया गया। यह लोन हासिल करने में शकील हैदर के अलावा हनी अब्बास, वारिस हसन और तनवीर अहमद शामिल थे। वहीं, दूसरी कंपनी हिंद बिल्डटेक के नाम से 42 करोड़ का लोन शकील हैदर ने कराया था। इन दोनों कंपनियों के खाते में लोन की रकम पहुंचने के बाद शकील ने उसे खर्च कर दिया। लेकिन किस्त की रकम देने में आनाकानी करने लगा।

प्रभारी निरीक्षक ने बताया कि मानसनगर के आकाश श्रीवास्तव ने अपनी बहन के साथ बरावनकला में जमीन ली थी। बाद में पता चला कि यह जमीन भी शकील ने लोन के लिए बंधक रखी है। इसी तरह का मामला वृंदावन कॉलोनी निवासी वीरेंद्र कुमार शर्मा का भी है। उनकी भी बरावनकला की 2691 वर्गफीट जमीन को शकील ने बैंक में गिरवी रखा है। चारों ने वजीरगंज थाने में मुकदमा दर्ज कराया है। आरोप है कि शकील व उसके अन्य साथियों ने जाली दस्तावेज तैयार कर इन जमीनों को बैंक में गिरवी रखा। इसके बाद अपने प्रॉपर्टी डीलर साथी के सहयोग से बेच दी। वीरेंद्र के मुताबिक, शकील ने उनकी जमीन पर 36.54 करोड़ रुपये का लोन कराया था इसके लिए उनके जमीन के आसपास की भी प्रॉपटी गिरवी रखी है। प्रभारी निरीक्षक धनंजय पांडेय के मुताबिक, मामले की जांच की जा रही है। दस्तावेज की जांच के लिए रजिस्ट्री कार्यालय को पत्र भेजा गया है। दस्तावेज मिलने के बाद उसकी फोरेंसिक जांच कराई जाएगी।

भाजपा के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष सतीश खुद मायावती के बराबर नहीं बैठ सकते: लक्ष्मीकांत वाजपेयी

लखनऊ  : भाजपा के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष डॉ. लक्ष्मीकांत वाजपेयी ने बसपा के ब्राह्मण सम्मेलनों पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि इन सम्मेलनों की अगुवाई करने वाले सतीश चंद्र मिश्रा खुद बसपा सुप्रीमो मायावती के बराबर में नहीं बैठ सकते। यह सभी ने चुनावी मंचों पर देखा है। ऐसे में वह ब्राह्मणों को बसपा में क्या सम्मान दिलाएंगे। उन्होंने कहा कि अखिलेश यादव अब साइकिल लेकर निकले हैं। कोरोना महामारी में तो बस घर में छिपे बैठे ट्वीट करते रहे, जबकि लोगों को मदद की दरकार थी। लोगों की मदद भाजपा ने की। वाजपेयी ने लखनऊ में कहा कि आज बसपा व सभी विपक्षी दल ब्राह्मणों को रिझाने की कोशिश कर रहे हैं पर इससे पहले किसी ने उन्हें याद नहीं किया। याद करें जब तत्कालीन प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने कहा था कि देश के संसाधनों पर पहला हक अल्पसंख्यकों का है।

मुलायम सिंह यादव ने कहा था कि कारसेवकों पर इसलिए गोलियां चलवाई कि ऐसा न करने से एक वर्ग विशेष नाराज हो जाता। मायावती ने सहारनपुर चुनावी रैली में भी कहा था कि मुस्लिमों एक हो जाओ। इन सब में  ब्राह्मण कहां थे। अब सब ड्रामेबाजी कर रहे हैं। यह पूरी तरह गलत है कि भाजपा सरकार में ब्राह्मणों पर अत्याचार हुआ और वे नाराज हैं। यह चुनावी स्टंट ही तो है कि खुद को समाजवादी विचारधारा का बताने वाले आज लोहिया को छोड़कर भगवान परशुराम की तरफ आकर्षित हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि कृषि कानूनों पर विरोध की स्थिति यह है कि पहले जो आंदोलन 10-12 लोगों के हाथ में था, अब वह एक ही व्यक्ति के हाथ में रह गया है। इसका कोई असर चुनाव पर आने वाला नहीं है। दरअसल, विपक्षी दलों के पास मुद्दे नहीं है। चाहे कानून-व्यवस्था हो या विकास, सभी पर काम हुआ। कोरोना महामारी की दूसरी लहर इस कदर अप्रत्याशित थी पर इसे नियंत्रित किया गया। हवाई जहाज तक से ऑक्सीजन मंगवाई गई। जनता यह सब जानती है।

शहर में जिन घरों या इमारतों पर होर्डिंग लगी है तो भरना होगा नगर निगम में अनुज्ञा शुल्क

लखनऊ : शहर में जिन घरों या इमारतों पर होर्डिंग लगी है, अब उनके मालिकों को उसका लाइसेंस नगर निगम से बनवाना होगा। प्रचार लाइसेंस फीस जमा किए बिना किसी तरह का विज्ञापन नहीं किया जा सकेगा। जो भवनस्वामी लाइसेंस फीस जमा नहीं करेंगे उनके गृहकर बिल में इसे जोड़ दिया जाएगा। नगर निगम की नई प्रचार उपविधि प्रभावी होने के बाद यह व्यवस्था लागू की जा रही है। मालूम हो कि नगर निगम शहर में लगने वाली होर्डिंग व अन्य तरह के प्रचार पर विज्ञापन कर वसूलता था, पर जीएसटी में विज्ञापन कर वसूलने का अधिकार समाप्त हो गया।

इसके बाद नगर निगम प्रशासन की ओर से उपविधि बनाकर अब विज्ञापन कर की बजाए विज्ञापन अनुज्ञा शुल्क वसूला जाएगा। जिसकी मंजूरी भी शासन से मिल चुकी है। अब नगर निगम प्रशासन विज्ञापन पटों से लाइसेंस शुल्क वसूल करेगा। इसके दायरे में होर्डिंग लगे सभी आवासीय और अनावासीय भवन आएंगे। होर्डिंग के आकार के आधार पर सालाना लाइसेंस शुल्क की दरें भी तय की गई हैं।

अभी करीब एक तिहाई शहर के हुए सर्वे में ही एक हजार से अधिक भवनों को चिह्नित किया गया है, जिन पर होर्डिंग लगी हैं। अनुमान है कि आंकड़ा करीब तीन हजार तक जाएगा। सबसे अधिक होर्डिंग फैजाबाद रोड, अशोक मार्ग, गोमती नगर, शहीद पथ के किनारे की कॉलोनियों, कानपुर रोड, रायबरेली रोड और सीतापुर व कुर्सी रोड के किनारे की आवासीय और अनावासीय इमारतों पर लगी हैं।नई नियमावली से पहले नगर निगम उस विज्ञापन एजेंसी से ही टैक्स वसूल करता था जो होर्डिंग पर विज्ञापन करती थी। भवनस्वामी को विज्ञापन कर से मतलब नहीं रहता था, मगर नई नियमावली में भवनस्वामी को ही लाइसेंस लेना होगा। इससे अब विज्ञापन एजेंसियां टैक्स की चोरी नहीं कर पाएंगी।

होर्डिंग के आधार पर लाइसेंस फीस

200 से 300 वर्ग फीट तक- 20,400 रुपये

301 से 600 वर्ग फीट तक- 40,800 रुपये

601 से 1200 वर्ग फीट तक-81,600 रुपये

1200 वर्ग फीट से अधिक 1800 वर्ग फीट तक-1,02000 रुपये

अखिलेश यादव की प्रेस कॉन्फ्रेंस काजल निषाद समाजवादी पार्टी में हुईं

लखनऊ : सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव की प्रेस कॉन्फ्रेंस काजल निषाद समाजवादी पार्टी में हुईं शामिल बड़ी संख्या में समर्थकों के साथ सपा ज्वाइन की पूर्व सांसद राजपाल सैनी भी सपा में शामिल हुए अरुण कुमार निषाद ने भी सपा ज्वाइन की महामंडलेश्वर सत्यानंद महाराज सपा में शामिल

आप सांसद संजय सिंह की प्रेस कॉन्फ्रेंस

लखनऊ : आप सांसद संजय सिंह की प्रेस कॉन्फ्रेंस3.30 बजे प्रदेश कार्यालय में पीसी करेंगे संजय।

20 IPS अफसरों को सम्मानित किया जाएगा

लखनऊ : 20 IPS अफसरों को सम्मानित किया जाएगा उनके श्रेष्ठ कार्यों के लिए सम्मानित किया जाएगा 4.30 बजे सीपी डीके ठाकुर सम्मानित करेंगे लखनऊ पुलिस लाइन संगोष्ठी सभागार में कार्यक्रम।

फिर से शुरू हुई पीस कमेटी की मीटिंग।

लखनऊ : फिर से शुरू हुई पीस कमेटी की मीटिंग।मीटिंग का बहिष्कार समाप्त होने के बाद की गई मीटिंग।मोहर्रम के मद्देनजर की गई पीस कमेटी की मीटिंग।शांति व्यवस्था बनाए रखने की अपील करते हुए मोहर्रम को शांतिपूर्वक करने की अपील की गई।एडीसीपी पश्चिम राजेश श्रीवास्तव, एसीपी बाजारखाला, प्रभारी निरक्षक सआदतगंज बृजेश और तमाम चौकी इंचार्ज रहे मौजूद। छेत्र के सम्मानित लोगो के साथ की गई मीटिंग,अंजुमनों के जिम्मेदार भी मीटिंग में मौजूद।सभी से शांति व्यवस्था बनाने, और कोविड 19 के मद्देनजर मोहर्रम करने की अपील। पश्चिम जोन के थाना सहादातगंज में की गई पीस कमेटी की मीटिंग।

पुलिस पीएसी सिपाही भर्ती 2018 में फर्जीवाड़ा

लखनऊ : पुलिस पीएसी सिपाही भर्ती 2018 में फर्जीवाड़ा पुलिस भर्ती,प्रोन्नत बोर्ड की सचिव ने कराया केस लखनऊ निवासी 2 नामजद समेत 4 पर केस दर्ज

दो अभ्यर्थियों की जगह बाहरी ने दी थी परीक्षा।

लखनऊ : के हुसैनगंज थाने में दर्ज हुआ मुकदमागोरखपुर में हुए शारीरिक परीक्षा के दौरान फर्जीवाड़ा।शारीरिक परीक्षा के दौरान अंगूठे के अलग निशान मिले दो अभ्यर्थियों की जगह बाहरी ने दी थी परीक्षा।

इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान पहुंचे जेपी नड्डा

लखनऊ : इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान पहुंचे जेपी नड्डा पंचायत सम्मेलन में पहुंचे जेपी नड्डा पंचायत प्रतिनिधियों को संबोधित करेंगे नड्डा जिला पंचायत अध्यक्ष,ब्लॉक प्रमुख मौजूद।

सपा पिछड़ा वर्ग प्रकोष्ठ का प्रदर्शन

लखनऊ : सपा पिछड़ा वर्ग प्रकोष्ठ का प्रदर्शन, बीपी मंडल आयोग की सिफारिश लागू करने की मांग, ज्ञापन सौंपने जा रहे कार्यकर्ताओं को पुलिस ने रोका, राजपाल कश्यप के नेतृत्व में बड़ी संख्या में कार्यकर्ता पुलिस ने रोका,राजपाल कश्यप बीच सड़क पर बैठे, राष्ट्रपति के नाम DM को सौंपना चाहते हैं ज्ञापन।

पीस कमेटी मीटिंग के बहिष्कार का ऐलान

लखनऊ : पीस कमेटी मीटिंग के बहिष्कार का ऐलान वापस मौलाना कल्बे जवाद ने बयान वापस लिया डीजीपी से फोन पर बातचीत के बाद मौलाना ने लिया फैसला सभी से पीस कमेटियों में जाने की अपील की सर्कुलर से नाराज़ शिया धर्मगुरु ने मीटिंग के बॉयकॉट का किया था ऐलान सर्कुलर से शिया समुदाय में थी भारी नाराज़गी मोहर्रम से पहले कल्बे जवाद ने वीडियो जारी कर दिया संदेश

Leave A Reply

Your email address will not be published.