लखनऊ का लालबाग इलाका सबसे अधिक प्रदूषित रहा

0 60

लख़नऊ : उत्तर प्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड द्वारा लखनऊ शहर के 6 अलग अलग इलाकों में वायु गुणवत्ता की निगरानी की जाती है । दीवाली में खुले तौर पर अत्यधिक पटाखे, गाड़ियों से निकलने वाला धुआँ, कचरा आदि जालाये जाने के कारण प्रदूषण का स्तर सर्वाधिक घातक हो गया है।

(1) लालबाग  310 AQI
(2) तालकटोरा डिस्ट्रिक इंडस्ट्रियल एरिया  289 AQI
(3) गोमती नगर  280 AQI
(4) भीमराव अंबेडकर विश्वविद्यालय  272 AQI
(5) कुकरैल पिकनिक स्पॉट 258 AQI
(6) सेंट्रल स्कूल  242 AQI

लखनऊ का लालबाग इलाका सबसे अधिक प्रदूषित रहा है। इसमें भी सबसे अधिक पार्टिकुलेट मैटर 2.5 (PM 2.5)  500 और पार्टिकुलेट मैटर भी 500 रहा है। जबकि भारतीय मानक के अनुसार PM 10.100 और PM 2.5  60 होना चाहिए। और दीवाली के अगले दिन ही आंकड़े मानक से 4 गुना अधिक रहे हैं। जिसका प्रभाव शारीरिक रूप से स्वस्थ व्यक्ति के लिए भी घातक है एवं शारीरिक रूप से बीमार, कमज़ोर एवं बूढ़े एवं बच्चों के लिए जानलेवा है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.