जश्ने ईद मीलादुन नबी व सीरत सहाबा के सिलसिले में मीटिंग का आयोजन

12 रबीउल अव्वल को ‘हजरत मौलाना सय्यद शाह फजलुर रहमान वाइजी ऐवार्ड से समाजी कारकुनों को सम्मानित किया जायेगा।

0 9

 

लखनऊ  जश्ने ईद मीलादुन नबी व सीरत सहाबा व नातिया मुशायरा के सिलसिले में एक मीटिंग जामा मस्जिद शाही टीला शाह पीर मोहम्मद साहब टीले वाली मस्जिद के शरीक मुतवल्ली गद्दी नषीन मौलाना सय्यद शाह वासिफ हसन वाईजी की मस्जिद वाके रिहाइशगाह पर उन्हीं की सदारत में हुई।
जलसे का आरम्भ क़ारी नईमुल हसन वाईजी ने तिलावत कलाम पाक से किया। इरफान लखनवी ने बारगाहे रिसालत में नज़राना अकीदत पेश किया। मीटिंग में शरीक तमाम बुद्ध जीवियों के आपसी मश्वरे से 12 रबीउल अव्वल के पेशे नजर कुछ चीजें तै की गईं। जिसमें वर्तमान वर्श एक नई शुरूआत की जायेगी मस्जिद और कौम के लिए अपनी जिंदगी वक्फ करने वाले कौमी यकजहती के अलमबरदार मरहूम हजरत मौलाना सय्यद शाह फजलुर्रहमान वाइजी ऐवार्ड से समाज के लिए अच्छे काम करने वाले दानिश्वर हजरात को नवाजा जायेगा।
11 रबीउल अव्वल को जश्ने चरागां होगा जिसमें मस्जिद की सजावट की जाएगी। 12 रबीउल अव्वल को बाद नमाज जुहर जल्से का आरम्भ होगा। इस के बाद आम लंगर का नज्म किया जाएगा ऑल इंडिया नातिया मुशायरा और उलमाए किराम का खिताब होगा। जलसे का समापन रात 9ः30 बजे होगा।
मशहूर व मारूफ शायर वासिफ फारूकी को शोराए किराम से राबिता व निजामत की जिम्मेदारी सौंपी गई है जिन शायरों की मुशायरे में आमद की उम्मीद है इन में माजिद देवबंदी, खुर्शीद हैदर कफील बिस्वानी, शकील गयावी शमशीर आलम वासिफ फारूकी असद बस्तवी, तारिक कमर वगैरा के नाम काबिले जिक्र हैं।
जलसे के संचालन की जिम्मेदारी संयुक्त रूप से वासिफ फारूकी व रफअत शैदा को दी गई है। टीला शाह पीर मोहम्मद साहब टीले वाली मस्जिद के शरीक मुतवल्ली गद्दीनशीन सय्यद शाह वासिफ हसन वाईजी को मुकर्ररीन को बुलाने की जिम्मेदारी संयुक्त फैसले से दी गई है। मस्जिद की सजवाट की जिम्मेदारी सगीर लाईट हाउस को दी गई है टेंट और स्टेज की जिम्मेदारी रफीक टेंट को दी गई है। मीडीया की जिम्मेदारी सय्यद रिहान अहमद को व्यवस्था की जिम्मेदारी सय्यद रिजवान अहमद को दी गई है।
वालेंटियर की जिम्मेदारी शुऐब अहमद जावेद, शाद एजाज को मुशतर्का तौर पर दी गई है। मेहमानों का स्वागत मौलाना नईम इस्लाही, सिराजुद्दीन अहमद फैजान गोरखपुरी, रईस, शाकिर कादिर, ताज खान वगैरा मुशतर्का तौर पर करेंगे। मीटिंग का सम्पन्न सय्यद शाह वासिफ हसन शरीक मुतवल्ली गद्दीनशीन की दुआ पर हुआ जिसमें उन्होंने मुल्क की सलामती और अमन व अमान के लिए यकजुट होकर दुआ कराई।

Leave A Reply

Your email address will not be published.