बिना चीरा बिना टांका वाली नसबंदी अपनाएंगे पुरुष

0 76

22 नवम्बर से 04 दिसम्बर तक मनाया जायेगा पुरुष नसबन्दी पखवाड़ा

पुरुष नसबन्दी कराने पर मिलती है 3000 रूपये की प्रतिपूर्ति राशि

बहराइच : परिवार नियोजन का अर्थ है परिवार छोटा रहे और बच्चों के बीच कम से कम तीन साल का अंतर हो। ताकि माँ और शिशु दोनों स्वस्थ रहें । इसके लिए आधुनिक विज्ञान ने गर्भ निरोधक के कई साधन दिये हैं । इनमें स्थायी और अस्थायी दोनों तरीके के साधन माजूद हैं । स्थायी साधनों में महिला नसबंदी की अपेक्षा पुरुष नसबंदी एक मामूली और साधारण प्रक्रिया है। जिसे कोई भी पुरुष जिसका परिवार पूरा हो गया है आसानी से अपना सकता है इसके महत्व को जन-जन तक पहुँचाने और परिवार कल्याण कार्यक्रम में पुरुषों की सहभागिता बढ़ाने के लिए हर साल पुरुष नसबंदी पखवाड़ा मनाया जाता है। इस बार पुरुष नसबंदी पखवाड़े की थीम पुरुषों ने परिवार नियोजन अपनाया , सुखी परिवार का आधार बनाया रखी गयी है।

दो चरणों में मनाया आयेगा पखवाड़ा :

पखवाड़े के पहले चरण 22 से 28 नवम्बर तक आशा और एएनएम द्वारा योग्य दम्पतियों की पहचान कर पंजीकरण किया जायेगा। इस दौरान गर्भ निरोधक साधनों खासकर पुरुष-नसबंदी को लेकर फैली भ्रांतियों को दूर करने का प्रयास किया जाएगा । इसके अलावा प्रत्येक माह आयोजित होने वाला खुशहाल परिवार दिवस भी 22 नवंबर को मनाया जाएगा दूसरे चरण में दी जाएंगी पुरुष नसबंदी की सेवाएँ पखवाड़े के दूसरे चरण 29 नवम्बर से 04 दिसम्बर तक इच्छुक व्यक्तियों को पुरुष नसबंदी की सेवा विशेषज्ञ सर्जन देंगे। इस दौरान गर्भनिरोधक के अन्य साधन जैसे &https://www.youtube.com/channel/UCcj8JxdUrXPVdAxW-blFheA8211; महिला नसबंदी, कापर-टी, अंतरा व छाया भी योग्य दम्पत्तियों को उनकी इच्छा के अनुसार उपलब्ध कराया जायेगा।

महिला नसबंदी से ज्यादा आसान है पुरुष नसबंदी –
परिवार नियोजन की नोडल अधिकारी व एसीएमओ डॉ योगिता जैन बताती हैं कि पुरुष नसबंदी करने की प्रक्रिया बहुत ही सरल और सुरक्षित है । इस पूरी प्रक्रिया में केवल 10 से 15 मिनट का समय लगता है और इसमें ज्यादा से ज्यादा दो दिन के आराम की जरूरत होती है या उसकी भी जरूरत नहीं होती है । साथ ही उन्होंने कहा कि परिवार नियोजन साधन को अपनाने की पहल पुरुषों द्वारा की जानी चाहिए क्योंकि पुरुषों की शारीरिक संरचना महिलाओं की अपेक्षा अधिक सरल होती है ।

 

शादी शुदा ऐसे पुरुष जिनकी आयु 22 से 59 वर्ष के बीच हो । इसके अलावा वह व्यक्ति कम से कम एक बच्चे का पिता हो और बच्चे की उम्र एक साल से अधिक हो। बच्चे को सभी टीके लग गए हों । बच्चा लड़की या लड़का कोई भी हो सकता है।

इच्छुक व्यक्ति यहाँ करें संपर्क :

पात्र व्यक्ति जिनको पुरुष नसबंदी की सेवा चाहिए वह किसी भी ब्लॉक या जिला स्तरीय किसी भी सरकारी अस्पताल में अथवा जिला परिवार नियोजन विशेषज्ञ के मोबाइल नंबर 6393805282 पर संपर्क कर सकते हैं।

बिना चीरा टांका वाली आसान है प्रक्रिया :

पुरुष नसबंदी करा चुके महसी ब्लॉक के कमलेश सोनी कहते हैं कि पुरुष नसबंदी को लेकर मेरे मन में कई शंकाएँ थीं। लेकिन वास्तव में ऐसा कुछ भी नहीं हुआ। सितंबर 2016 को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र महसी में बिना चीरा टांका लगाए 10 मिनट में ही मुझे नसबंदी की सेवा मिल गयी। नसबंदी के आधे घंटे बाद अकेले मोटर साइकिल चलाकर घर वापस आ गया। आज मैं अपने छोटे व्यवसाय के साथ खेती बाड़ी भी करता हूँ और अपने परिवार के साथ खुशहाल जीवन व्यतीत कर रहा हूँ।

ऐसे मिलती है प्रोत्साहन राशि :

जनपद में पुरुष नसबंदी के लिए 3000 रुपए तथा महिला नसबंदी के लिए 2000 रुपये की प्रोत्साहन राशि दी जाती है। प्रसव के तुरंत बाद नसबंदी कराने वाली महिलाओं को 3000 रुपये तथा प्रसव के तुरंत बाद कॉपर-टी लगवाने पर महिला को 300 रुपए की प्रोत्साहन राशि दी जाती है। इसके अलावा अंतरा इंजेक्शन लगवाने पर 100 रुपये प्रति डोज की प्रोत्साहन राशि दी जाती है।

महिला नसबंदी में चीरा टांका लगता है जबकि पुरुष नसबंदी बिना चीरा टांका वाली पांच मिनट की प्रक्रिया है। ऐसे में विचार जब नसबंदी कराने का हो तब पुरुषों को संकोच नही करना चाहिए । &https://www.youtube.com/channel/UCcj8JxdUrXPVdAxW-blFheA8211; मुख्य चिकित्सा अधिकारी &https://www.youtube.com/channel/UCcj8JxdUrXPVdAxW-blFheA8211; डॉ सतीश कुमार सिंह

Leave A Reply

Your email address will not be published.