अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय ने अल्पसंख्यक महिलाओं के लिए एक नेतृत्व विकास कार्यक्रम “नई रोशनी” शुरू किया

0 364

लखनऊ :महिलाओं को परस्पर सशक्त बनाना ना केवल समानता के लिए आवश्यक है अपितु यह निर्धनता में कमी लाने, आर्थिक विकास और नागरिक समाज को सुदृढ़ करने की हमारी लड़ाई में भी एक आवश्यक घटक है| गरीबी से बेहाल परिवारों में महिलाओं और बच्चों को सदैव ही सबसे ज्यादा कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है और उन्हें सहायता की जरूरत होती है महिलाओं विशेषकर माताओं को सशक्त बनाना अधिक महत्वपूर्ण है क्योंकि घर ही वह स्थान है जहां  बच्चों का पालन पोषण करती है और उनका चरित्र निर्माण करती है| बहुत सी महिलाएं पढ़ी-लिखी होने के बाद भी बैंक बिजली पानी के दफ्तर में जरूरी कागजी कार्रवाई नहीं कर पाती इसकी वजह उनमें जानकारी का अभाव है साथ ही  उसके लिए जरूरी बातें पूछने में हिचक भी है|

इसे ध्यान में रखते हुए अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय ने अल्पसंख्यक महिलाओं के लिए एक नेतृत्व विकास कार्यक्रम “नई रोशनी” शुरू किया इस योजना का उद्देश्य सभी स्तरों पर सरकारी प्रणालियों, बैंकों और अन्य संस्थानों के साथ बातचीत के लिए ज्ञान, उपकरण और तकनीक प्रदान करके एक ही इलाके में रहने वाले अन्य समुदायों के उनके पड़ोसियों सहित अल्पसंख्यक महिलाओं के बीच आत्मविश्वास और सशक्त बनाना है|“नेशनल इंटीग्रेशन एंड एजुकेशनल सोसायटी” ऐसी ही एक संस्था है, जिसके कोषाध्यक्ष नजर मेहंदी जी ने बताया कि पिछले वर्ष भी इसी संस्था द्वारा “नई रोशनी” कार्यक्रम का सफलतापूर्वक संचालन किया गया था जिसमें 125 अल्पसंख्यक महिलाओं को 25-25 के अलग-अलग पांच बैचों में सफल प्रशिक्षण दिया गया सभी महिलाओं को कार्यक्रम के अंत में ₹600 का चेक समाज के अलग-अलग क्षेत्रों के प्रतिष्ठित विभूतियों द्वारा वितरित किया गया जिससे महिलाओं को प्रेरणा व उत्साह मिला|

पिछले वर्ष की तरह इस वर्ष भी संस्था अपने ही एक कंप्यूटर सेंटर “रेडियंस इंस्टिट्यूट ऑफ कंप्यूटर एप्लीकेशन अमीनाबाद लखनऊ” में “नई रोशनी” कार्यक्रम का संचालन करने जा रही है|कंप्यूटर सेंटर की डायरेक्टर  इफत रिजवी ने बताया कि इस बार भी पिछले वर्ष की तरह अल्पसंख्यक महिलाओं को इस कार्यक्रम के माध्यम से सामाजिक व्यवहार में सकारात्मक परिवर्तन, स्वच्छ भारत, जीवन कौशल की सीख, स्वास्थ्य व स्वच्छता का महत्व, शैक्षिक सशक्तिकरण, सूचना का अधिकार महिला व बालिकाओं के विरुद्ध हिंसा, डिजिटल इंडिया, कोरोनावायरस संबंधी जागरूकता,महिलाओं को उनके कानूनी अधिकार जैसे कई विषयों पर प्रशिक्षण लेने का अनुभव प्राप्त होगा|

 

अगर आप भी अल्पसंख्यक समुदाय से ताल्लुक रखती हैं और पर्याप्त जानकारी के अभाव में सरकारी योजनाओं या सामाजिक कार्यक्रम का लाभ नहीं उठा पाती तो “नई रोशनी” योजना आपके लिए मददगार साबित हो सकती है|  छह दिवसीय “नई रोशनी” कार्यशाला में रजिस्ट्रेशन कराने के लिए National Institute of Computer Application 173/35, 2nd Floor Nadwa Building, opposite Markaz Masjid   near Kaiserbagh Bus Stand, Dr B N Verma Road Aminabad मैं फार्म उपलब्ध है जिसे भरकर और साथ ही जरूरी कागजात जमा करके आप इस योजना का लाभ उठा सकती है|

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.