शरारती तत्वों ने तीन गोवंश को जिंदा जलाया, दो की मौत, ग्रामीणों ने किया हंगामा

0 22

मेरठ : मेरठ में मंगलवार सुबह होते ही दिल दहलाने वाली घटना सामने आई है। खरखौदा थाना क्षेत्र के काजीपुर गांव के जंगल में बने एक कमरे बंधे तीन गोवंश को शरारती तत्वों ने जिंदा जला दिया। गोवंश स्वामी खेत में नराई कर रहा था। गोवंश स्वामी मौके पर दौड़ा, जहां उसने एक आरोपी को पकड़ा लिया। जबकि दो फरार हो गए।पकड़ में आए आरोपी ने गोवंश स्वामी की हाथ में काट कर भागने का प्रयास किया मगर शोर-शराबे के बीच अन्य ग्रामीण पहुंच गए। उसकी धुनाई कर दी। आग से दो गोवंश की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि तीसरा गोवंश तड़प रहा है तीनों गोवंश 5 से 6 महीने की गर्भवती है। इस घटना से गुस्साए ग्रामीणों ने जमकर हंगामा किया। बाद में कंट्रोल रूम की सूचना पर बिजली बंबा चौकी से पुलिसकर्मी मौके पर पहुंचे।

खरखौदा थाना क्षेत्र के गांव गाजीपुर निवासी परमिंदर सैनी पुत्र बालक राम सैनी ने बताया कि गांव के बाहर जंगल में उनके दो कमरे बने हुए हैं। जहां पर वह अपने पशुओं को दिन में बांधते हैं। रोज की तरह मंगलवार सुबह करीब 6:00 बजे परविंदर ने अपने तीन गोवंश को गांव से ले जाकर कमरे में बांध दिए थे। तीनों गोवंश गर्भवती है। उसके बाद परविंदर कमरे से थोड़ी ही दूरी पर अपने खीरे के खेत में नाराई करने चले गए। करीब 20 मिनट बाद परविंदर ने देखा कि कमरे में से धुआं निकल रहा था। दौड़ लगाकर परमिंदर कमरे की ओर दौड़ा।

तीसरे को ऐसे धर दबोचाइस दौरान कमरे के पास से तीन युवक बाहर की ओर भागे। दो युवक प्रवेश बिहार की ओर फरार हो गए, जबकि तीसरे को परमिंदर ने धर दबोचा। आरोपित युवक ने परमिंदर के हाथ में काट कर भागने का प्रयास किया। शोर-शराबे के बीच आसपास के खेतों में काम कर रहे किसान मौके पर दौड़े और आरोपित को पकड़ कर धुनाई कर दी। कंट्रोल रूम की सूचना पर खरखोदा थाने की बिजली बंबा चौकी से पुलिसकर्मी मौके पर पहुंचे। इस दौरान सूचना के बाद ग्रामीणों की भीड़ जमा हो गई। कमरे में देखा तो दो दो गोवंश के शव थे। जबकि तीसरी गोवंश आग लगने के बाद दीवार तोड़कर गांव में भाग गई, जहां वह तड़प रही है। पशु चिकित्सक उसका उपचार कर रहे हैं। गुस्साए ग्रामीणों ने हंगामा काट दिया। पुलिस आरोपी को बिजली बंबा चौकी ले गई।

तीनों आरोपितों को मिलने चाहिए फांसी की सजा पीड़ित गोवंश स्वामी परविंदर समेत ग्रामीणों ने पुलिस से मांग की कि तीनों आरोपियों को फांसी की सजा मिलनी चाहिए। जिस तरह से उन्होंने यह कृत्य किया है उससे समाज में गहरा रोष है। खेत में शराब पीने से मना करने पर दिया घटना को अंजाम परविंदर ने बताया कि जो आरोपित पकड़ा गया है वह और फरार दोनों युवक कमरे के पास खेत में आए दिन शराब पीते थे दो-तीन दिन से उन्हें खेत में शराब पीने से मना जा रहा था। संभवत इसी का बदला लेने के लिए उन्होंने इस घटना को अंजाम दिया है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.