दहेज प्रथा का अंत कब की मुहिम को साकार करने के लिए गोष्ठी का आयोजन

0 134

उन्नाव  : सामाजिक संस्थान नवयुग जन चेतना सेवा संस्थान द्वारा संचालित दहेज प्रथा का अंत कब की मुहिम के बैनर तले एक परिचर्चा गोष्ठी का आयोजन चैधरी खजान सिंह महाविद्यालय के सभागार में संपन्न हुआ जिसका शुभारंभ संस्था के पदाधिकारियों द्वारा ’विनोबा भावे के चित्र पर माल्यार्पण एवं दीप प्रज्वलित करके किया गया परिचर्चा गोष्ठी को जहां संस्था के सभी पदाधिकारियों ने अलग-अलग संबोधित किया वहीं संस्था अध्यक्ष पुत्तन लाल पाल ने उपस्थित जनसमूह को दहेज के प्रति जागरूक करते हुए कहा कि दहेज की मांग की वजह से गांव के नीचे तबके का किसान मजदूर अपनी बेटियों को उच्च शिक्षित इसलिए नहीं कर रहा है कि उसे उच्च शिक्षा का वर खोजने पर अधिक दहेज देना पड़ेगा उन्होंने अपने संबोधन में यह भी कहा कि इस मुहिम को हम जन आंदोलन का रूप देंगे जिसके तहत आगामी रविवार को ग्राम मसवासी में एक विशाल बैठक होगी संस्था अध्यक्ष के विचारों को सुनकर गोष्ठी में शामिल जहां आशीष अंकित राज मुकेश अंकुश राजेश रंजीत ने सामूहिक शपथ ली कि हम दहेज रहित विवाह करने का संकल्प लेते हैं वही सौम्या अवस्थी व प्रीति गुप्ता ने सामूहिक संकल्प लिया कि हम अपनी शादी वहां नहीं करेंगे जहां दहेज मांगा जाएगा

इस अवसर पर राकेश कुमार अनिल कुमार राम बहादुर भरत सचिन नितिन निर्मला पाल अनिल नागेंद्र राजकुमार सहित सैकड़ों लोग इस परिचर्चा गोष्ठी में शामिल हुए

Leave A Reply

Your email address will not be published.