कांग्रेस नेताओं एवं कार्यकर्ताओं पर मुकदमे को लेकर विरोध प्रदर्शन।

0 29

लखनऊ : प्रतापगढ़ के सांगीपुर में हुई घटना में उत्तर प्रदेश कांग्रेस विधान मंडल दल की नेता श्रीमती आराधना मिश्रा मोना जी पूर्व सांसद प्रमोद तिवारी जी सहित अनेक कांग्रेस नेताओं एवं कार्यकर्ताओं पर मुकदमे हुए थे जिनको जिसको लेकर मंगलवार को कैसरबाग मकबरा रोड पर लखनऊ जिला एवं महानगर कांग्रेस कमेटी के सैकड़ों पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं ने सरकार के खिलाफ जमकर विरोध प्रदर्शन कर कोंग्रेसियो पर हुए मुक़दमे वापस लेने की मांग की कांग्रेस कार्यकर्ताओं और पुलिस के बीच आधे घंटे धक्का-मुक्की हुई जिसमें बाद में पुलिस प्रशासन द्वारा आश्वासन दिए जाने पर तीनों अध्यक्षों द्वारा एडीसीपी राजेश श्रीवास्तव जी को ज्ञापन सौंपा गया

लखनऊ के माध्यम से महामहिम राज्यपाल जी को ज्ञापन सौंपा।इस मौके पर महानगर अध्यक्ष (दक्षिणी) दिलप्रीत सिंह डीपी, महानगर अध्यक्ष (उत्तरी) अजय श्रीवास्तव अज्जू एवं जिलाध्यक्ष वेद प्रकाश त्रिपाठी ने प्रतापगढ़ की घटना की घोर निंदा करते हुए संयुक्तरूप से कहा जिसतरह कांग्रेस का हर एक सिपाही उत्तर प्रदेश सरकार की नाकामी को उजागर कर रहा है उससे प्रदेश की भाजपा सरकार बौखलाई हुई है और इस बौखलाहट का नतीजा है

इस प्रदेश सरकार प्रशासन के जरिये कांग्रेस कार्यकर्ताओं एवं नेताओं पर फर्जी मुकदमे दर्ज कराकर उन्हें डराना चाहती है।उत्तर प्रदेश मे चुनाव का समय जैसे जैसे नजदीक आता जा रहा है वैसे वैसे सियासी पारा चढ़ने लगा है अब आने वाले चुनाव मे उत्तर प्रदेश की जनता का जनाधिकार किसको मिलेगा ये 2022 विधानसभा चुनाव के नतीजे तय करेंगे कि यूपी की सत्ता पर कौन काबिज होता है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.