राजेश टिकैत ने दी बड़े आंदोलन की चेतावनी दिल्ली की तरह लखनऊ के चारो तरफ सीमा सील की जाएगी

0 81

लखनऊ : प्रेस क्लब में संयुक्त किसान मोर्चा ने प्रेस वार्ता कर सरकार को चुनौती दी है। किसान नेता राकेश टिकैत, योगेंद्र यादव समेत कई किसान नेता मौजूद रहे। मिशन उत्तर प्रदेश के तहत संयुक्त किसान मोर्चा सरकार और उसकी नीतियों के खिलाफ मोर्चा खोलने की बात कही है। केंद्र सरकार के तीन कृषि कानूनों के ख‍िलाफ क‍िसानों का आंदोलन लगातार चल रहा है। ऐसे में सोमवार को लखनऊ में संयुक्त किसान मोर्चा ने केंद्र सरकार के ख‍िलाफ आर-पार की लड़ाई का ऐलान क‍िया।

भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश ट‍िकैत ने कहा क‍ि दिल्ली की तरह लखनऊ के चारो तरफ सीमा शील की जाएगी। जिस तरह दिल्ली में चारों तरफ के रास्ते सील हैं, ऐसे ही यहां के सारे रास्‍ते क‍िसानों की ओर से सील क‍िए जाएंगे। हम इसकी तैयारी करेंगे।बिजली महंगी, गन्ने का भुगतान बाकी


राकेश टिकेट ने कहा कि। यूपी हमेशा आंदोलन का प्रदेश रहा है। मूंग के किसानों ने 3 हजार रूपए सस्ती फसल बेची। आलू का किसान बरबाद हुआ है गन्ना किसानों का 12 हजार करोड़ का भुगतान बाकी है। पिछली सरकारों में आंदोलन के बाद रेट बढ़ता रहा लेकिन इस सरकार ने कुछ नहीं बढ़ाया। यूपी में किसानों को सबसे महंगी बिजली मिलती है।

बड़े आंदोलन की चेतावनी

5 सितंबर को मुज्जफरनगर बड़ी पंचायत कर आंदोलन की शुरुआत करेंगे। संयुक्त मोर्चा ने 8 महीने आंदोलन करने के बाद ये फैसला लिया है कि यूपी यूके के साथ पूरे देश में इस आंदोलन को बढ़ाएंगे। जब तक ये सब कानून वापस नहीं होते तब तक किसान आंदोलन वापस नहीं होगा। लखनऊ को भी दिल्ली बना देंगे

लखनऊ के चारों तरफ के रास्तों का भी वही हाल होगा जो दिल्ली में हुआ है। भारतीय किसान यूनियन चुनाव लड़ने के सवाल पर टिकैत ने कहा कि हम चुनाव नही लड़ेंगे और किसान जिस पार्टी से खुश होगा उसे वोट देगा बीजेपी से मेरी लड़ाई चल रही है इसीलिए ये तो भूल जाये कि इन्हें वोट मिलेगा पहले भी इनके खिलाफ विपक्ष ने आवाज उठाई थी तो बीजेपी ये बताये की उन्हें कितने में खरीदा था।वही भाजपा की बी टीम आ गई है

Leave A Reply

Your email address will not be published.