हैदरगढ़ में राम मंदिर निर्माण निधि समर्पण अभियान का हुआ शुभारंभ

0 104

 

हैदरगढ़ बाराबंकी :  दलगत एवं हीन भावना से ऊपर उठकर  राम मंदिर निर्माण के लिए आप सभी हिंदू भाइयों से  निर्माण निधि का  संग्रह स्वीकार करें। जिससे अयोध्या में मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान  राम के मंदिर निर्माण में सभी का छोटे से बड़ा सहयोग  प्राप्त हो सके।उक्त बात आज श्री राम मंदिर निर्माण निधि समर्पण  अभियान  के कार्यक्रम में बोलते हुए राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के जिला कार्यवाह  वेद प्रकाश ने कही। प्रमुख वक्ता के रूप में बोलते हुए वेद प्रकाश ने कहा कि अयोध्या में मंदिर का निर्माण  रामजी की इच्छा से हो रहा है।

 

हम सभी इस अभियान में अपनी निधि का समर्पण कर रहे हैं। इसके लिए भाग्यशाली हैं। उन्होंने कहा कि ₹10 से लगाकर जिसकी जितनी आर्थिक क्षमता हो वह इसमें सहयोग करें ।इसके लिए संग्रह अभियान से जुड़े हुए स्वयंसेवक  गणमान्य जनों से संपर्क स्थापित करें। वेद प्रकाश ने कहा कि यह कार्यक्रम  ना किसी राजनीतिक दल का है और ना  किसी संगठन का है बल्कि यह कार्यक्रम समस्त हिंदू समाज व हिंदुत्व के शुभचिंतकों का है। इस दौरान  कार्यक्रम को महंत अखिलेश्वरनंद जी महाराज,  रामनरेश अवस्थी,  मनोज पांडे आज कई वक्ताओं ने संबोधित किया। इससे पूर्व कार्यक्रम का शुभारंभ महंत  ने मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान राम के चित्र के समक्ष दीप प्रज्ज्वलन करके किया। जबकि  श्री राम जय राम जय जय राम की राम धुन भी इस मौके पर सभी ने सामूहिक रूप से गाई।

 

राम मंदिर निर्माण निधि समर्पण अभियान के अंतर्गत आज केशव मैरिज हाल नगर पंचायत हैदरगढ़ में सम्पन्न हुए कार्यक्रम की अध्यक्षता प्रेमदास कुटी के महंत श्री बाबा अखिलेश्वरानन्द महराज ने की। जबकि निधि समापन अभियान कार्यक्रम का सफल संचालन सामाजिक कार्यकर्ता कृष्ण कुमार द्विवेदी राजू भैया ने किया।अभियान का निधि समर्पण शुभारंभ अभियान प्रमुख  इंद्र कुमार ने 51सौ व आशीष कुमार खंड अभियान प्रमुख ने 11हजार की धनराशि देकर किया। बैठक में मिथुन, अभिषेक कुमार, धर्मेंद्र मिश्र, सुनील चंदेल,आदर्श दीक्षित, मातापल्टन सिंह, हिमांशु, राजेन्द्र साहू ,सोमिल शुक्ला,अमित मिश्रा, संतोष श्रीवास्तव,ननकऊ साहू,विकास पांडे,विजय हिन्दुस्तानी, नन्हें तिवारी ,जगतनारायण,गणेश अग्रवाल, रवि अग्रवाल, आनन्द पांडे,देवानन्द पांडे,कुलदीप आदि लोग उपस्थित थे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.