लाल टोपी संघर्ष और समानता का प्रतीक है विजय द्विवेदी 

0 117

कन्नौज : समाजवादी पार्टी कार्यालय में प्रेस वार्ता जिलाअध्यक्ष कलीम खान की अध्यक्षता में हुई जिसमें मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ  के द्वारा विवादास्पद लाल टोपी वाले  व्यान को लेकर प्रेस वार्ता हुई जिसमें समजवादी प्रवक्ता विजय द्विवेदी  ने कहा लाल टोपी संघर्ष और समानता का प्रतीक है जब  नायक जयप्रकाश नारायण जी ने देशव्यापी आंदोलन किया तब भी लाल टोपी की अहम भूमिका रही ।।

वही जिलाउपाध्यक्ष राजेश पाल ने भी इस बयान को लेकर याद दिलाया कि जिसे मुख्यमंत्री जी सदन में जो ढाई साल के बच्चे का उदाहरण दिया वो सभी लोग जानते है कि ढाई साल का बच्चा क्या ये बात बोल सकता है ये सभी जानते है कि ढाई साल के बच्चा   अच्छे बुरे  गुंडे मवाली की पहचान की समझ नहीं होती है  और लाल रंग जो  क्रांति और समाजवाद का प्रतीक है उसे समाजवादियों ने अपना पहनावा बनाया है और आप किसी के पहनावे पर कोई बयान नहीं दे  सकते हैं

लाल टोपी जो कि समाजवादियों ने लॉकडाउन में सबसे ज्यादा काम करने का काम किया है वह समाजवादियों ने किया है प्रवासी मजदूरों के खाना पानी और यहां तक आना जाना तक का प्रबंध कराया   लॉकडाउन के समय में जब कोई प्रवासी मजदूर को दूर से लाल टोपी दिख जाती थी तो उसे एक राहत की सांस आती थी कि यह वही लाल टोपी वाले हैं जो हमारी मदद जरूर करेंगे और समाजवादी उन्हें बिल्कुल वैसा ही किया और अभी क्या हुआ है मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी लाल टोपी का मतलब आपको उस दिन समझ में आएगा जब देश का किसान लाल टोपी लगाएगा देश का युवा  लाल टोपी लगाएगा देश की महिलाएं जिन पर उत्पीड़न हुआ है वह लाल टोपी लगाएंगे और 2022 में आप की कुर्सी को  उखाड़ फेंकने  का काम करेगी इस मौके पर सुबोध त्रिपाठी कश्मीर पाल यश शर्मा अनिरुद्ध पाल समेत कई कार्यकर्ता मौजूद रहे

Leave A Reply

Your email address will not be published.