एक करोड़ की डकैती

0 153

गाजियाबाद : केलोनी स्थित ट्रॉनिका सिटी की अंसल कॉलोनी में प्रॉपर्टी कारोबारी छोटे खां के परिवार को बंधक बनाकर डकैती डालने वाले बदमाश फुलप्रूफ योजना के तहत वारदात करने आए थे। बदमाशों का एक सूत्रीय कार्यक्रम कारोबारी के परिवार को दहशत में लाकर वारदात करने का था। घर में घुसे छह बदमाशों ने गन प्वाइंट पर कारोबारी के परिवार को एक कमरे में बंधक बना दिया। जिस बदमाश को परिवार की निगरानी में लगाया गया था, उसके साथी उसे डॉक्टर नाम से संबोधित कर रहे थे। साथ ही, यह भी कहा कि अगर कोई शोर मचाए तो गोली मार देना। मौत की दहशत के चलते परिवार के सभी लोग एक कोने में दुबककर बैठ गए और बदमाश वारदात को अंजाम देकर फरार हो गए।

छोटे खां के मुताबिक बुधवार को वह और उनका भाई दफ्तर पर थे। जबकि घर में उनके बुजुर्ग पिता रहीमुद्दीन, पत्नी शबाना, बेटा यश, शुभान और बेटियां गुड़िया व इलमा के अलावा उनका भतीजा शाहरूख मौजूद थे। दोपहर करीब ढाई बजे तीन बाइक सवार छह बदमाश उनके घर पहुंचे और मेनगेट खुलावाया। जैसे ही भतीजे शाहरूख ने गेट खोला वैसे ही हथियारबंद दो बदमाशों ने उन दोनों को कब्जे में लेकर पूरे परिवार को तीन मंजिला मकान के प्रथम तल पर बंधक बना लिया। एक बदमाश ने हेलमेट पहना हुआ था जबकि बाकी ने चेहरे पर मास्क लगाया हुआ था। एक बदमाश हथियार लेकर कमरे के बाहर खड़ा हो गया और उसके अन्य साथियों ने एकएक कर तीनों मंजिल पर रखा घर का सारा सामान खंगाल डाला। घर में रखे 96 लाख रुपए के अलावा बदमाश महिलाओं के जेवर भी लूट कर ले गए। परिजनों का कहना है कि जो बदमाश उनकी निगरानी कर रहा था, उसके साथ ही उसे डॉक्टर कह कर संबोधित कर रहे थे।

पीड़ित परिवार के मुताबिक मकान के मेन गेट के बाद घर में एंट्री करने के लिए एक दूसरा दरवाजा भी है। बदमाश किसी तरह मेन गेट से अंदर आ गए लेकिन घर में घुसने के लिए दूसरा दरवाजा उनके लिए चुनौती था। इसके लिए बदमाशों ने कारोबारी छोटे खां के तहेरे भाई इमरान का नाम पुकारा। घर में मौजूद छोटे खां के भतीजे शाहरुख ने गेट खोलते हुए इमरान के गांव में होने की बात कही ही थी कि बदमाशों ने उसे गन प्वाइंट पर ले लिया। पिस्टल की नोक पर बदमाश शाहरुख को कमरे में ले गए। जहां सभी परिजनों को बंधक बना दिया। बदमाशों की धमकी से कारोबारी का परिवार दहशत में आ गया था। बदमाशों ने परिवार के लोगों को पिस्टल दिखाते हुए कहा कि यह असली है। अगर शोर मचाया तो जान से मार दिए जाओगे। बदमाशों ने परिवार के लोगों से अलमारियों की चाबी मांगी। चाबी न होने का हवाला देने पर बदमाश मकान की तीनों मंजिलों पर टूट पड़े और अलमारियों के लॉक तोड़कर कैश और जेवर लूट लिए।

जिस तरीके से बदमाशों ने वारदात को अंजाम दिया उससे साफ जाहिर है कि उन्हें पहले से पता था कि घर में मोटा कैश रखा है। तीन मंजिला मकान के छह मुख्य कमरों में बदमाशों ने उसी कमरे का दरवाजा तोड़ा, जिसमें कैश रखा था। पुलिस का कहना है कि मंगलवार को ही कारोबारी के घर मोटा कैश आया था। इसके अलावा कारोबारी का किराएदार बुधवार को शामली में शादी समारोह में चला गया। इसी बीच डकैती का होना तमाम सवाल पैदा कर रहा है। सभी पहलुओं पर जांच की जा रही है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.