संसद में दूसरे हफ्ते की चर्चा आज से शुरू

0 95

दिल्ली : संसद में आज (26 जुलाई) से मानसून सत्र के दूसरे सप्ताह की शुरुआत हो चुकी है। सत्र के पहले हफ्ते में संसद पेगासस जासूसी कांड, किसान आंदोलन जैसे मुद्दों के चलते हंगामे से गूंज उठा था। पहले हफ्ते के दौरान मंगलवार को (20 जुलाई) को हंगामे के चलते केवल चार घंटे ही उच्च सदन में कामकाज हो पाया था। हंगामे के कारण कई बार सदन की कार्रवाई स्थगित कर दी गई थी। हालांकि, आज से शुरू हुए मानसून सत्र के दूसरे हफ्ते के दौरान विपक्ष ने एक बार फिर से इन्हीं मुद्दों को लेकर सरकार को घेरा।

मानसून सत्र के पिछले सप्ताह की कार्यवाही हंगामे की भेंट चढ़ गई। शुक्रवार (23 जुलाई) को तो प्रश्नकाल और शून्यकाल भी नहीं हुआ। विपक्ष ने पेगासस स्पाइवेयर जासूसी कांड की जांच और कृषि बिल को वापस लेने के लिए जमकर हंगामा किया। पेगासस मुद्दे पर सूचना एवं प्रौधोगिकी मंत्री अश्विनी वैष्णव बोलने के लिए खड़े हुए, लेकिन विपक्ष के कुछ नेता और टीएमसी के सांसद शांतनु सेन आसन के समीप पहुंचकर हंगामा करने लगे। शांतनु सेन को उनके व्यवहार के लिए संसद के इस पूरे सत्र के लिए निलंबित कर दिया गया। इन विवादों के कारण संसद का पिछला सप्ताह मात्र चार घंटे ही चल सका।

विपक्ष जिस तरह से सरकार को घेर रहा है, उसे देखते हुए ऐसा ही लगता है कि संसद का माहौल एक बार फिर हंगामे की भेंट चढ़ेगा। आज एक तरफ जहां कांग्रेस सांसद मनीष तिवारी ने लोकसभा में पेगासस प्रोजेक्ट रिपोर्ट पर चर्चा के लिए स्थगन प्रस्ताव का नोटिस दिया, वहीं किसानों के समर्थन में सरकार के खिलाफ विरोध जताने के लिए राहुल गांधी खुद ट्रैक्टर चलाकर संसद पहुंचे। इस दौरान राहुल गांधी ने पत्रकारों से कहा कि  हम किसानों का संदेश लेकर संसद आए हैं। किसानों की आवाज दबाई जा रही है। सरकार को कृषि कानून वापस लेने ही होंगे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.