सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण ने किया जिला कारागार का निरीक्षण

आयोजित हुआ विधिक जागरुकता एवं साक्षरता शिविर

0 27

 

बहराइच। उ.प्र. राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण, लखनऊ तथा जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के अध्यक्ष/जनपद न्यायाधीश के निर्देशानुसार सचिव, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, शिखा यादव द्वारा जिला कारागार का निरीक्षण एवं जिला कारागार में विधिक जागरुकता एवं साक्षरता शिविर का आयोजन किया गया। इस अवसर पर जेलर आनन्द कुमार शुक्ला, डिप्टी जेलर शेषनाथ यादव, लिपिक मनीष सिंह एवं बंदीगण उपस्थित रहे। जेलर आनन्द कुमार शुक्ला द्वारा बताया गया कि वर्तमान में निरुद्ध विचाराधीन बंदियों में पुरुष बंदी 1157 व महिला बंदी 63, सिद्धदोष बंदियों में पुरूष बंदी 240 व महिला बंदी 18 हैं। महिला बंदियों के साथ 9 बच्चे व 3 बच्चियां हैं। विदेश (नेपाल) बंदियों की संख्या 45, मृत्युदण्ड बंदियों की संख्या 03 तथा प्रशासनिक बंदी 08 हैं।
शिविर के उपरान्त सचिव कृष्ण कुमार द्वारा सर्वप्रथम महिला बैरक का निरीक्षण किया गया। महिला बंदियो को उनके निःशुल्क मुकदमे की पैरवी हेतु जिला विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा निःशुल्क अधिवक्ता उपलब्ध कराये जाने की प्रक्रिया के बारे में बताया गया। ऐसे सिद्धदोष बंदी जिनकी अपील माननीय न्यायालय में दाखिल नही हो पायी है, उन्हें अपनी अपील जेल अपील के माध्यम से कराये जाने हेतु सुझाव दिया गया। आगामी राष्ट्रीय लोक अदालत 13 अगस्त 2022 व प्रत्येक माह आयोजित होने वाली जेल लोक अदालत के माध्यम से छोटे वादों के मुकदमे का शीघ्र निस्तारण कराये जाने हेतु बन्दियों को प्रोत्साहित भी किया गया।
अस्पताल बैरक के निरीक्षण के दौरान जेलर द्वारा बताया गया कि अस्पताल में भर्ती बंदियों की संख्या 29 है, जो कार्डिक, मनोरोग, कुष्ठ रोग इत्यादि रोगों से पीड़ित हैं, जिनका सुचारु रुप से इलाज किया जा रहा है। जिला कारागार में यदि किसी बंदी में बुखार, खांसी, जुखाम इत्यादि लक्षण दिखते हैं, तो सामाजिक दूरी का ध्यान रखते हुये उन्हे पृथक बैरक 10 सी में रखा जाता है। चिकित्सक जिला कारागार डॉ परिवेश कुमार पाण्डेय को जेल अस्पताल में भर्ती बंदियों के दवा इलाज को सुचारु रूप से संचालित रखने, बंदियों की ओपीडी स्लिप बनवाये जाने हेतु निर्देशित किया गया। इसके अतिरिक्त शिविर में उपस्थित बंदियों की समस्याओं को सुना गया तथा जेलर को उनकी समस्याओं का त्वरित निस्तारण कराये जाने हेतु विधिनुसार पत्राचार करने हेतु निर्देशित किया गया। साथ ही जेलर, जिला कारागार, बहराइच को जेल में साफ-सफाई एवं सुन्दरता बनाये रखने हेतु निर्देशित किया गया।

Leave A Reply

Your email address will not be published.