प्लास्टिक उन्मूलन विषय पर संगोष्ठी का आयोजन : जयोति गुप्ता प्रथम व खुशी शुक्ला ने अर्जित किया दूसरा स्थान

0 13

बांदा : ब्रह्म विज्ञान इंटर कालेज में सिंगल यूज प्लास्टिक उन्मूलन पर निबंध प्रतियोगिता कराई गयी तथा संगोष्ठी का आयोजन किया गया। जिसमें ज्योति गुप्ता प्रथम, खुशी शुक्ला द्वितीय, तथा अंजली गुप्ता ने तृतीय स्थान प्राप्त किया, विज्ञान शिक्षक शान्तिभूषण यादव जी ने बच्चों को विस्तार से बताया कि सिंगल यूज प्लास्टिक अर्थात जैसे सामान लाने की थैलियां पानी की बोतल, चिप्स, बिस्किट तथा अन्य सामग्रियों के खाली प्लास्टिक के थैले होते हैं जो पर्यावरण के लिए बहुत बड़ी समस्या है तथा आसानी से घटित नहीं होती है सालों साल जमीन पर पड़ी रह कर मिट्टी जल तथा अन्य प्रदूषण का कारण बनती है

अक्सर नालियों में यह उनको जाम कर देती हैं जिससे नालियों तैयारी में जल प्रवाह रुक जाता है और जो मच्छरों की वृद्धि का कारण बनता है और मलेरिया जैसे रोग भी उत्पन्न हो जाते हैं इनका उचित निराकरण कई तरीकों से किया जा सकता है जिसमें प्लास्टिक की थैलियों को मुख्य रूप से हम इको ब्रिक के निर्माण द्वारा सही तरीके से इस समस्या का समाधान कर सकते हैं जिसमें कोल्ड ड्रिंक अथवा पानी की प्लास्टिक की खाली बोतलों में हम इन प्लास्टिक की थैलियों को भरते जाते हैं और इनको अच्छी प्रकार से ठोस ठोस कर भर दिया जाता है इस प्रकार जो बोतल तैयार होती है

उसको इको ब्रेक कहते हैं इन बोतलों के द्वारा हम दीवारों का तथा अन्य कई संरचनाओं का निर्माण कर सकते हैं इसके अतिरिक्त प्लास्टिक की थैलियों को छोटे-छोटे टुकड़ों में मशीनों द्वारा काटकर इनसे प्लास्टिक की टाइल्स का निर्माण किया जा सकता है इसके अतिरिक्त यदि इनको हम पाउडर के रूप में परिवर्तित कर ले और तारकोल के साथ मिलाकर यदि सड़क का निर्माण किया जाए तो इस प्रकार की सड़क जल के लिए जल रोधी हो जाएगी और उसकी आयु भी बढ़ जाएगी प्रधानाचार्य शिवदत्त त्रिपाठी ने कहा कि प्रकृति के लिए प्लास्टिक बहुत ही हानिकारक है अरूण कुमार, चेतराम, सुरेन्द्र शर्मा, सोमनाथ, गिरिजेश मिश्र, राजेन्द्र कुमार, राजेश कुमार, सुशील गर्ग, कमलेश कुमार बीरेंद्र दीक्षित, आदि उपस्थित रहे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.