सुदामा चरित का सुनाया प्रसंग भक्तों के छलके आंसू

0 108

 

कन्नौज/हसेरन : क्षेत्र के बिहारीपुर गांव में चल रही श्रीमद्भागवत कथा के विश्राम दिवस पर सुदामा चरित का प्रसंग सुनाया गया व्यास पीठ पर आचार्य विनोद कुमार तिवारी ने बाल सखा कृष्ण मित्र सुदामा जी के मिलन का वर्णन किया मित्रता की बात कही सरस कथा वाचक पंडित विनोद तिवारी ने बताया यदि सच्चा मित्र वही है जो दुख और सुख में साथ दें मित्रता की एक बात देखी जाए तो यह श्रीमद् भागवत कथा में सुदामा चरित में दर्शाया गया है एक मित्र अपने मित्र की सहायता स्वयं दरिद्रता को लेकर करता है सुदामा एक ज्ञानी पुरुष थे ब्राह्मण कुल में जन्म हुआ था वेद पाठी ब्राह्मण थे

सबकुछ जानकर अनजान बन गए एक मित्र के लिए उन्होंने अपना सर्वस्व निछावर कर दिया मित्रता का वर्णन सुदामा चरित में मार्मिक किया गया है सुदामा चरित की कथा सुन भक्त भावविभोर हो गए उनके आंखों से अश्रु की धारा वह निकली व्यास के मुखारविंद से अमृत रूपी कथा का रसपान किया इस मौके पर सत्यदेव त्रिपाठी सुनना द्विवेदी शिवनाथ विनय पांडे नरेंद्र पांडे हरिनारायण त्रिवेदी बाबू राम राठौर बाबू शार्क शिव कुमार पाल जगदीश जाटव अशोक मिश्रा राम अवस्थी रामेश्वर पाठक राजेश दुबे अनिल अवस्थी चंद्रप्रकाश लक्ष्मी तिवारी बबली तिवारी देवकी सविता रंजना तिवारी मीरा पाठक सहित सैकड़ों की संख्या में श्रोता गण मौजूद रहे

Leave A Reply

Your email address will not be published.