तालिबान ने अफगानिस्तान के सैलूनों को नया फरमान सुनाया

0 40

तालिबान : ने अफगानिस्तान की सत्ता पर काबिज होने के बाद बयान दिया था कि वह पहले की तरह शासन नहीं चलाएगा। लोगों को छूट दी जाएगी, लेकिन ऐसा नहीं है। वहां फिर से 1996 से 2001 वाला कट्टर इस्लामिक शासन लौट आया है। अब तालिबान ने अफगानिस्तान के सैलूनों को नया फरमान सुनाया है। इसके तहत उन्हें किसी की भी दाढ़ी काटने से मना किया गया है। नए नियम के तहत उन्हें इस्लामिक कानून के तहत ही पुरुषों की दाढ़ी या बाल बनाने होंगे।

कुछ मीडियो रिपोर्ट्स के मुताबिक, तालिबान की ओर से हेलमंत प्रांत के सैलूनों में इस तरह के नोटिस भी लगा दिए गए हैं। सैलून संचालकों से कहा गया है कि वे अमेरिकी स्टाइल में बाल व दाढ़ी काटना बंद करें और इस्लामिक नियमों का पालन करें। आगे लिखा है कि इस नोटिस के खिलाफ शिकायत का अधिकार नहीं है। इसके अलावा अफगानिस्तान के अन्य इलाकों से भी ऐसी ही खबरें आ रही हैं। वहां भी तालिबान लड़ाके सैलूनों पर जाकर नया फरमान सुना रहे हैं।

1996 से 2001 के शासन के दौरान तालिबान ने कट्टर इस्लामिक कानून का पालन करवाया था। लेकिन सत्ता जाने के बाद वहां नियमों में छूट दी गई। सैलूनों को किसी भी स्टाइल से बाल या दाढ़ी काटने की आजादी थी, यहां तक कि पुरुष क्लीन शेव भी कर सकते थे। लेकिन एक बार फिर से वहां पर पुरुषों को दाढ़ी बढ़ाने का फरमान सुनाया गया है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.