बहन को बीच रास्ते में दी खौफनाक मौत

0 83

बदायूं : उत्तर प्रदेश के बदायूं जिले के दातागंज कस्बे में ऑनर किलिंग की वारदात होने से हड़कंप मच गया। प्रेम विवाह करने से गुस्साए परिजनों और दो भाइयों ने मिलकर युवती की चाकू से गला रेतकर हत्या कर दी। युवती के पति और उसके भाई की पुलिस ने जान बचाई। वारदात को अंजाम दातागंज कोतवाली से चंद कदम दूरी पर दिया गया। पुलिस ने चार लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर हत्यारोपी भाइयों को हिरासत में ले लिया है। करीब 20 वर्षीय युवती दातागंज इलाके की रहने वाली है। उसका बरेली के करगैना में रहने वाले रिश्तेदार देवेंद्र से प्रेम प्रसंग चल रहा था। 22 जून को युवती चुपचाप अपने प्रेमी के साथ चली गई और उससे शादी कर ली थी। परिजन ने नाबालिग बताते हुए देवेंद्र के खिलाफ अपहरण की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। इससे पुलिस युवती और उसके प्रेमी को तलाश कर रही थी।

युवती को डर था कि घरवाले उसकी और उसके प्रेमी की हत्या कर सकते हैं। युवती ने हाईकोर्ट में पेश होकर अपनी और अपने प्रेमी की जान की सुरक्षा मांगी थी। हाईकोर्ट ने उन्हें सुरक्षा मुहैया कराने का आदेश भी पारित कर दिया था, जो 22 जुलाई को दातागंज कोतवाली पहुंच गया। मगर दातागंज पुलिस ने हाईकोर्ट के आदेश को गंभीरता से नहीं लिया, और न ही प्रेमी युगल को सुरक्षा मुहैया कराई गई। बुधवार रात करीब 12:30 बजे युवती, उसका पति देवेंद्र और उसका भाई कार में सवार होकर दातागंज कोतवाली आ रहे थे। उनकी कार कोतवाली के नजदीक सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के सामने पहुंची होगी तभी पीछे से आए आरोपियों ने ओवरटेक करके अपनी गाड़ी आगे लगा दी।

उन्हें देखकर दंपती समझ गए कि कुछ गलत होने वाला है। वे हिम्मत जुटाकर कार से बाहर निकले। तभी आरोपियों ने हमलाकर युवती को मौत के घाट उतार दिया। आरोपियों ने चाकू से सीधे युवती की गर्दन पर वार कर किया, जिससे वह जमीन पर गिरकर तड़पने लगी आरोपी देवेंद्र व उसके भाई की ओर बढ़े, लेकिन उसी समय बाइक पर एसआई बलवीर सिंह उधर से निकल रहे थे। उन्होंने हमला होते देख बाइक रोक ली।  बताते हैं कि इस दौरान युवती के हत्यारोपी पिता और उसका जुड़वां भाई कार में बैठे थे, जो मौके से भाग गए। हत्यारोपी भाई रवित कुमार और पुष्पेंद्र वहीं रहे गए। जिन्हें पुलिस ने पकड़ लिया। बाद में चंद्रपाल और कुंवरपाल भी पकड़ लिए गए।

करगैना निवासी युवक जिससे प्यार करता था और बाद में शादी की। बुधवार रात उसकी आंखों के सामने पत्नी की बेहरमी से हत्या कर दी गई। ये दृश्य देखकर पति अपनी सुधबुध खो बैठा है। शुरुआत में उसने पुलिस को पूरी जानकारी दी, लेकिन जैसे-जैसे समय आगे बढ़ता गया कि वह अवसाद में डूबता गया। दोपहर बाद उसकी हालत ये हो गई कि वह पोस्टमार्टम हाउस तक नहीं पहुंचा। पुलिस ने ही युवती के शव का पोस्टमार्टम कराया। युवती के हत्यारोपी भाइयों से पुलिस ने लंबी पूछताछ की। पुलिस के मुताबिक, आरोपियों ने हत्या करने की बात स्वीकार की। उन्होंने कहा कि युवती ने उनके परिवार की मर्जी से अलग जाकर शादी की, जो उन्हें अच्छा नहीं लगा। उनकी बदनामी हो रही थी। लोग उन पर हंस रहे थे। इससे आत्मग्लानि से वह जूझ रहे थे तो उन्होंने उसकी हत्या का फैसला कर लिया।

Leave A Reply

Your email address will not be published.